हमें दुर्घटना मुक्त महाराष्ट्र की जरूरत: सीएम

राज्य सड़क सुरक्षा माह का उद्घाटन । दुर्घटना संभावित स्थलों पर बनें ट्रॉमा केयर सेंटर

uddhav thackeray

मुंबई

सहृयाद्रि गेस्ट हाउस में परिवहन विभाग और महाराष्ट्र राज्य सड़क सुरक्षा परिषद के संयुक्त तत्वावधान में 32 वें राज्य सड़क सुरक्षा माह का उद्घाटन मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने किया। ठाकरे ने कहा कि राज्य में दुर्घटना संभावित स्थानों पर ट्रामा केयर सेंटर स्थापित किए जाए। मुख्यमंत्री ने राज्य में दुर्घटनाओं को रोकने और ट्रैफिक नियम पालन करने की सभी से अपील की।  

मुख्यमंत्री ने कहा कि महाराष्ट्र फिलहाल दुर्घटनाओं की सूची में दूसरे नंबर है। उन्होंने कहा कि हमें दुर्घटनाओं की आंकड़ा कम नहीं करना है, बल्कि देश में दुर्घटनाओं की सूची में महाराष्ट्र का नाम नहीं चाहिए। हमें दुर्घटना मुक्त महाराष्ट्र चाहिए। इसके लिए सभी को प्रयास करना चाहिए। ड्राइवरों को स्वेच्छा से यातायात नियमों का पालन करना चाहिए और खुद तथा दूसरों का जीवन खतरे में नहीं डालना चाहिए।

नियम और संयम का पालन जरूरी

सड़क सुरक्षा को जीवनशैली का हिस्सा बनाने की अपेक्षा व्यक्त करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि नियम और संयम इन दोनों शब्दों में ‘‘यम’’ है। यदि आप वाहन चलाते वक्त नियम और संयम का पालन नहीं करते हैं तो आपसे यम की मुलाकात होती है जो आपकी जान ले जाता है। सड़कें न केवल मनुष्यों द्वारा, बल्कि जानवरों द्वारा भी पार की जाती हैं। उनका भी ध्यान रखने की जरूरत है। मुख्यमंत्री ने कहा कि ड्राइविंग प्रशिक्षण संस्थानों में कर्मचारियों को नियमों और अनुशासन को जानना आवश्यक है। तभी वे प्रशिक्षण दे सकते हैं। यातायात नियमों और अनुशासन का पालन करने के लिए समन्वय से काम करना चाहिए। स्कूली बच्चों को यातायात नियमों की शिक्षा दी जानी चाहिए।

स्कूली बच्चों की सराहना

मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में प्रकाशित कैलेंडर में सड़क सुरक्षा चित्रों और नारों को बनाने के लिए स्कूली बच्चों की सराहना की। मुख्यमंत्री ने गैर सरकारी संगठनों और इस क्षेत्र में काम करने वाले व्यक्तियों को धन्यवाद दिया।

दुर्घटनाओं को कम करने के प्रयास: परब

परिवहन मंत्री अनिल परब ने कहा कि ‘‘सड़क सुरक्षा - जीवन रक्षक” इस वर्ष के अभियान का नारा है। यह अभियान पहली बार 18 जनवरी से 17 फरवरी तक एक माह तक चलेगा। दुर्घटनाओं को कम करने के लिए भी प्रयास किए जाने चाहिए। इस वर्ष लगभग 24,000 दुर्घटनाएं हुई हैं, यह पिछले वर्ष से 23 प्रतिशत कम है और मौतों में 10 प्रतिशत की गिरावट हुई है।

नियमों का सख्ती से करें पालन: शेख़

पालक मंत्री असलम शेख ने कहा कि मोटर चालकों के लिए यातायात नियमों का कड़ाई से पालन करना अनिवार्य है। शेख ने विभिन्न विभागों से ड्राइविंग लाइसेंस के काम में समन्वय स्थापित करने की अपील की। पुलिस महासंचालक हेमंत नगराले ने सड़क सुरक्षा के महत्व और आवश्यकता को रेखांकित किया। प्रस्तावना मुख्यमंत्री के अतिरिक्त मुख्य सचिव और परिवहन विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव आशीष कुमार सिंह ने रखी, जबकि धन्यवाद ज्ञापन परिवहन आयुक्त अविनाश ‍ ढाकणे ने दिया।

मेरे हाथ में है राज्य की स्टीयरिंग  

कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि वे फिलहाल सरकार और कार दोनों चलाते हैं। बीच-बीच में गड्ढे और दिक्कतें आती हैं, लेकिन इसका मुझ पर कोई प्रभाव नहीं होता। स्टीयरिंग व्हील मेरे हाथों में मजबूत है। राज्य की स्टीयरिंग व्हील मेरे मजबूत हाथों में है। उन्होंने कहा कि कार और सरकार दोनों सुचारू रूप से चल रही हैं। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि कौन आगे बैठा है और कौन पीछे बैठा है।

इधर मुख्यमंत्री के बयान पर ताना मारते हुए विधानसभा में विपक्ष के नेता देवेंद्र फड़नवीस ने कहा कि उद्धव ठाकरे अच्छी तरह कार चलाते हैं, लेकिन जब वे कार चला रहे होते हैं तो सभी ट्रैफिक रोक दिया जाता है, ऐसे में वे अच्छी तरह से कार चला पाते हैं। ऐसी सरकार नहीं चलाई जाती। सरकार में ट्रैफिक शुरू ही रहता है। फड़नवीस ने यह टिप्पणी ग्राम पंचायत चुनाव परिणाम को लेकर की।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget