’राहुल को सलाह दे शिवसेना’


मुंबई

 बीते 23 जनवरी को  नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती के दिन पश्चिम बंगाल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की उपस्थिति में आयोजित कार्यक्रम में लगे जयश्री राम के नारो से गरमाई पश्चिम बंगाल की राजनीती महाराष्ट्र तक पहुंच गई है। जिसे लेकर सत्तापक्ष और विपक्ष एक दूसरे पर जमकर निशाना साधना शुरू कर दिया है। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की उपस्थिति में लगे जयश्री राम के नारों को लेकर राज्य की सत्ताधारी पार्टी शिवसेना ने पार्टी की  मुखपत्र सामना के जरिए विपक्षी पार्टी भाजपा पर  निशाना साधा। जिसमे कहा कि पश्चिम बंगाल में  पार्टी की सत्ता लाने के लिए भाजपा राज्य की सत्ताधारी पार्टी तृणमूल कांग्रेस नेताओं पर नकेल कस रही है। इसके  जवाब में भाजपा के विधायक अतुल भातखलकर ने शिवसेना पर हमला बोलते  हुए कहा कि नेताजी  सुभाषचंद्र बोस की जयंती के दिन हुए कार्यक्रम में जयश्रीराम के लगे नारो को लेकर शिवसेना चिंता कर रही है, लेकिन शिवसेना प्रमुख दिवंगत बालासाहेब ठाकरे की जयंती दो दिन मनाई गई, लेकिन इसे लेकर शिवसेना को चिंता नहीं है उनकी जयंती के दिन राज्य  सहित पूरे देश की जनता ने अलग -अलग माध्यम से उन्हें बधाई दी और इस अवसर पर मुंबई में उनकी एक पूर्ण-प्रतिमा का अनावरण किया गया। जिसमे सभी पार्टियों के नेता उपस्थित थे। लेकिन कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और सांसद राहुल गांधी ने दिवंगत बालासाहेब ठाकरे की जयंती पर उन्हें बधाई नहीं दी। शिवसेना पर निशाना साधते हुए भाजपा विधायक सामाना के माध्यम से दुनिया को सलाह देने के बजाय, शिवसेना  को यह सोचना चाहिए कि राहुल गांधी ने शिवसेना को क्यों किनारा कर लिया है। 


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget