भाजपा ने फिर उठाया रोहिंग्या मामला

दिलीप घोष ने चुनाव आयोग से की शिकायत, कहा- वोटर लिस्ट में हैं इनके नाम

dilip ghosh

कोलकाता

पश्चिम बंगाल चुनाव की तारीखें अभी तय नहीं हुई हैं, लेकिन सभी राजनीतिक दलों का एक दूसरे पर वार लगातार जारी है। चुनाव आयोग की टीम पश्चिम बंगाल के दौरे पर है। इस दौरान जहां टीएमसी ने चुनाव आयोग से कहा कि भाजपा बीएसएफ के जरिए सीमावर्ती इलाकों में लोगों को वोट के लिए डरा रही है तो वहीं अब बंगाल भाजपा चीफ दिलीप घोष ने पलटवार करते हुए यह कहा है कि सीमा से सटे इलाकों में रोहिंग्याओं के नाम मतदाता सूची में जोड़े गए हैं। 

गुरुवार को दिलीप घोष ने चुनाव आयोग के प्रतिनिधिमंडल से मिलने के बाद मीडिया से बातचीत के दौरान यह बताया। उन्होंने चुनाव आयोग से कहा है कि पश्चिम बंगाल में आगामी चुनावों को लेकर लोगों में डर का माहौल है और इसलिए जल्द ही यहां सेना भेजी जानी चाहिए। उन्होंने कहा, ‘चुनाव आयोग की पूरी टीम यहां चुनावी तैयारियों का जायजा लेने पहुंची है। विपक्षी पार्टी के नाते, हमने उनसे राज्य में एक ऐसा माहौल सुनिश्चित करने को कहा है जहां लोग शांति और निष्पक्षता के साथ अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर सकें। यह जरूरी है कि यहां केंद्रीय बलों की जल्द तैनाती की जाए।’ घोष ने पश्चिम बंगाल में डर का माहौल होने का दावा करते हुए यह भी बताया कि बीते साल हुए लोकसभा चुनावों के दौरान सभी 42 संसदीय सीटों पर हिंसा की खबरें मिली थीं। उन्होंने यह भी कहा कि निष्पक्ष मतदान के लिए केंद्रीय बलों को मतदान केंद्र के अंदर और राज्य की पुलिस को बूथ के बाहर तैनात किया जाना चाहिए। टीएमसी की ओर से यह आरोप लगाया गया है कि भाजपा बीएसएफ के जरिए सीमावर्ती गांवों के लोगों को अपने पक्ष में वोट पाने के लिए धमका रही है। जब यह सवाल घोष से पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘हमें यकीन है कि बॉर्डर वाले इलाकों में रोहिंग्याओं के नाम मतदाता सूची में जोड़े गए हैं। चुनाव आयोग को इस पर ध्यान देना चाहिए।’


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget