राहुल को न सत्य से मतलब न अहिंसा से : सुशील मोदी

गांधी' का करते हैं राजनीतिक इस्तेमाल

पटना

पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी ने बुधवार को ट्वीट कर विपक्ष को नसीहत दी है। उन्होंने कहा है कि गणतंत्र दिवस पर किसानों की ट्रैक्टर रैली के दौरान जिस तरह से उत्पाती भीड़ ने हिंसा, तोडफ़ोड़ और राष्ट्रीय झंडे के अपमान का दुस्साहस किया, उससे इस संदेह की पुष्टि हुई कि किसान आंदोलन को  वामपंथी, खालिस्तानी और टुकड़े-टुकडे गैंग ने पूरी तरह हाईजैक कर लिया है। राज्यसभा सदस्य मोदी ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी को भी आड़े हाथ लिया है। सुशील मोदी ने लिखा पूरे देश ने दिल्ली में हिंसा का तांडव देखा, लेकिन राहुल गांधी ने न हिंसा और तोडफ़ोड़ की निंदा की, न आंदोलन स्थगित करने की अपील की। राहुल गांधी ने उल्टे हमला कराने का आरोप सरकार पर लगा कर एक बार फिर साबित किया कि उन्हेंं न सत्य से मतलब है, न अहिंसा से, वे केवल 'गांधी' सरनेम का राजनीतिक इस्तेमाल करते हैं। आगे लिखा गणतंत्र दिवस की गरिमा को चोट पहुंचाने वाली घटना के बाद राजद को बिहार में 30 जनवरी को प्रस्तावित मानव शृंखला रद्द कर देनी चाहिए। किसान नेताओं को भी पहली फरवरी का संसद मार्च र॑द्द कर सरकार के प्रस्तावों पर वार्ता शुरू करनी चाहिए। ट्वीट में मोदी ने लिखा, पंजाब के संपन्न बिचौलियों ने किसान आंदोलन के नाम पर न केवल सरकार के सभी प्रस्ताव ठुकरा कर गतिरोध और तनाव बनाए रखा, बल्कि देश विरोधी ताकतों से साठगांठ कर भारतीय गणतंत्र के प्रतीक लाल किले पर हमला किया। टैक्टर को टैंक की तरह इस्तेमाल किया गया, तलवारें लहरायी गईं।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget