ध्रुव सिंह, अखंड प्रताप सिंह और गिरधारी पर मामला दर्ज

लखनऊ

लखनऊ में पूर्व ब्लाक प्रमुख अजीत सिंह की हत्या में गैंगस्टर ध्रुव सिंह उर्फ कुंटू, अखंड प्रताप सिंह और वाराणसी के कन्हैया विश्वकर्मा उर्फ गिरधारी पर एफआईआर दर्ज की गई है। इस गोलीकांड में घायल मोहर सिंह ने ये एफआईआर दर्ज कराई है। आरोप है कि पूर्व विधायक सर्वेश सिंह की हत्या के मामले में गवाही से रोकने के लिए अजीत सिंह की हत्या की गई है। पूर्व विधायक की हत्या के मामले में अगले हफ्ते अजीत सिंह की गवाही होनी थी। अजीत को गवाही न देने के लिए धमकाया भी जा रहा था। मोहर सिंह ने आरोप लगाया है कि कन्हैया उर्फ गिरधारी उर्फ डॉक्टर और उसके तीन शूटर्स ने फायरिंग कर घटना को अंजाम दिया। बता दें कुंटू सिंह और अखंड प्रताप सिंह पूर्व विधायक हत्याकांड में जेल में बंद हैं।

अपराधियों की तलाश में छापेमारी

 प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक तीन की संख्या में शूटरों ने यह हमला किया था। स्कॉर्पियो सवार अजीत सिंह को गोली मारने के बाद अपराधी मौके से फरार हो गए। वहीं विभूतिखंड थाना क्षेत्र स्थित व्यस्त चौराहे पर सरेआम हुई गोलीबारी की वारदात की सूचना मिलने पर लखनऊ के पुलिस कमिश्नर डी.के ठाकुर घटनास्थल पर पहुंचे। उन्होंने कहा कि अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की टीम गठित की गई है। पुलिस वारदात के बारे में जानकारी जुटाने के लिए आसपास लगे सीसीटीवी फुटेज को खंगाल रही है।

कुंटू सिंह के मकान और कटरे पर चली जेसीबी

आजमगढ़ के माफिया कुंटू सिंह का नाम सामने आने के बाद जिला प्रशासन की तरफ से बड़ी कार्रवाई देखने को मिली है। जिला प्रशासन ने गुरुवार को कुंटू सिंह के मकान और कटरे पर बुलडोजर चलवा दिया है। जीयनपुर में स्थित कुंटू सिंह की तीन मंजिला इमारत गिराने के लिए भारी फोर्स के साथ डीएम एसपी भी पहुंचे। कुंटू पर आज़मगढ़, मऊ, जौनपुर में गम्भीर धाराओं में 67 मुकदमे दर्ज हैं।  


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget