अंडरग्राउंड मेट्रो की फोटो लेने जाना होगा दिल्ली, कोलकाता : फड़नवीस

fadanvis

मुंबइ

राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री और विधानसभा में विपक्ष के नेता देवेंद्र फड़नवीस ने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि मुंबई मेट्रो के लिए हमारी सरकार ने आरे में कारशेड की जगह आवंटित की थी, लेकिन ठाकरे सरकार ने सत्ता में आने के बाद कारशेड की जगह रद्द कर इसे कहीं और स्थानांतरित करने का प्रयास किया, ऐसे में अगले कुछ साल अंडरग्राउंड मेट्रो की फोटो लेने के लिए मुंबईकरों को दिल्ली या कोलकाता जाना पड़ेगा।  

पूर्व मुख्यमंत्री विधानपरिषद में विपक्ष के नेता प्रवीण दरेकर के कार्यों का साल भर का लेखाजोखा पुस्तक के विमोचन समारोह में बोल रहे थे। यह कार्यक्रम गुरुवार को यशवंतराव चव्हाण सभागृह में आयोजित किया गया था।

चार साल तक मेट्रो 3 में नहीं बैठ पाएंगे मुंबईकर

इस मौके पर फड़नवीस ने कहा कि वे दिल्ली से एयरपोर्ट जाने के लिए मेट्रो में बैठे थे, उस वक्त उन्हें एक घंटे का समय लगा। उस समय उन्हें ख्याल आया कि कोलाबा से मुंबई एयरपोर्ट जाने के लिए वर्ष 2021 में केवल 25 मिनट का समय लगेगा। अब 2021 आ गया है और मेट्रो का 80 फीसदी काम पूरा हो चुका है, लेकिन बाकी का काम रूक गया है। उन्हें महसूस हुआ कि अगले दो से तीन साल तक काम आगे नहीं बढ़ सकेगा, क्योंकि यदि मुंबई एयरपोर्ट से कोलाबा या मुंबई में किसी अन्य इलाके में लोकल या मेट्रो 3 से जाना है तो आरे में कारशेड बनाना होगा। फड़नवीस ने कहा कि कुछ लोगों ने इसे प्रतिष्ठा का विषय बना लिया, इसलिए अगले चार साल तक मुंबईकर मेट्रो -3 में नहीं बैठ पाएंगे। मुंबईकरों को मेट्रो 3 या अंडरग्राउंड मेट्रो की यदि तस्वीर लेनी होगी तो उन्हें दिल्ली या कोलकाता जाना होगा। 

विपक्ष में रहकर सत्ता के बारे में नहीं सोचते

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि ग्राम पंचायत चुनावों में भाजपा सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है। ऐसे में हमें आगे भी जमकर काम करना होगा। जब तक हम विपक्ष में रहेंगे, सत्ता के बारे में विचार नहीं करना चाहते। हम पूर्ण न्याय देते हुए अंतिम व्यक्ति की आवाज के रूप में काम करेंगे।

विदर्भ के खून से बेईमानी

फड़नवीस ने कहा कि हमारे शरीर में विदर्भ का खून है, केवल यह बोलने से काम नहीं चलेगा। मराठवाडा और विदर्भ के साथ ऐसा व्यवहार क्यों? पहले इसका उत्तर दीजिए। हमारे साथ बेईमानी की गई। कम से कम विदर्भ के रक्त से बेईमानी मत कीजिए।

बगैर मांगे बहुत कुछ मिला: दरेकर

कार्यक्रम में विधानपरिषद के विपक्ष के नेता प्रवीण दरेकर ने कहा कि उन्होंने कभी भी देवेंद्र फड़नवीस से कुछ नहीं मांगा, मुझे बगैर कुछ कहे विधायक और प्रतिपक्ष के नेता की जिम्मेदारी दी। मैं मेरे नेताओं और जनता के प्रति जवाबदेह हूं। जिस समय जंगल में तूफान आया था,उस समय जंगल के शेर के अपनी गुफाओं में बैठे हुए थे, तब प्रवीण देरकर और देवेंद्र फड़नवीस चारों तरफ घूमकर इस तूफान का सामना कर रहे थे।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget