केंद्रीय मंत्री श्रीपाद नाईक से मिले राजनाथ सिंह

rajnath Singh

पणजी

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह मंगलवार को केंद्रीय मंत्री श्रीपद नाइक का हालचाल जानने गोवा मेडिकल कॉलेज और अस्पताल (जीएमसीएच) पहुंचे। नाईक से मिलने के बाद राजनाथ सिंह ने बताया कि श्रीपद नाईक फिलहाल खतरे से बाहर हैं। रक्षा मंत्री ने यह भी बताया कि कैसे पीएम नरेंद्र मोदी मंत्री नाईक के सड़क हादसे में घायल होने से परेशान थे। सोमवार रात श्रीपद नाईक की एसयूवी कर्नाटक में सड़क हादसे का शिकार हो गई थी, जिसमें वह गंभीर रूप से घायल हो गए थे। हादसे में उनकी पत्नी और सहायक की मौत हो गई। रक्षामंत्री ने बताया कि उन्होंने गोवा के सीएम प्रमोद सावंत से भी बात की है। उन्होंने कहा, 'पीएम ने भी सीएम सावंत से बात की। इसके बाद उन्होंने मुझे फोन कर दुख जाहिर किया और मुझे यहां (गोवा) आने के लिए कहा। मैं भी यही सोच रहा था। श्रीपद नाईक अभी स्थिर हैं। डॉक्टरों का कहना है कि वह फिलहाल खतरे से बाहर हैं।' नाइक की कल रात जीएमसीएच में कई सर्जरी की गयीं। एक अधिकारी ने बताया कि मंत्री की हालत स्थिर है। नाइक (68) की दोनों हाथों और एक पैर में 

फ्रैक्चर के लिए सर्जरी हुई। राजनाथ सिंह ने यह भी बताया कि डॉक्टरों ने एम्स दिल्ली के डायरेक्टर से भी बात की है। यहां डॉक्टरों की एक टीम आएगी। अगर जरूरत पड़ी तो उन्हें इलाज के लिए दिल्ली लाया जाएगा। यह डॉक्टरों पर निर्भर करता है। उत्तरी गोवा से भाजपा सांसद और वर्तमान में केंद्रीय रक्षा राज्य और आयुष मंत्री नाइक को देर रात गंभीर हालत में पणजी के निकट जीएमसीएच लाया गया।

सिंह विशेष विमान से गोवा में आईएनएस हंसा बेस पर पहुंचे और दो बजकर 40 मिनट के आसपास जीएमसीएच गए, जहां नाइक का इलाज चल रहा है।दुर्घटना में नाइक के साथ कार में सवार उनकी पत्नी विजया और एक सहायक की मौत हो गई। यह हादसा उत्तर कन्नड़ जिले में अंकोला के निकट हुआ जब मंत्री कर्नाटक में धर्मस्थल से गोवा लौट रहे थे।

कर्नाटक में एक धर्मस्थल से गोवा लौटने के दौरान उत्तर कन्नड़ जिले में अंकोला के पास उनकी गाड़ी दुर्घटनाग्रस्त हुई। अंकोला में ही प्राथमिक इलाज के बाद उन्हें गोवा मेडिकल कॉलेज में शिफ्ट कर दिया गया। यहां खुद मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत उन्हें देखने पहुंचे थे और बताया था कि वह खतरे से बाहर हैं और उनकी हालत अभी स्थिर है। आज केंद्रीय मंत्री की दो सर्जरी होनी हैं।

नाइक अपने परिवार के चार सदस्यों के साथ सुबह येलापुर में स्थित गणपति मंदिर गए थे और वहां पूजा-अर्चना करने के बाद शाम सात बजे के करीब गोकर्ण के लिए रवाना हुए। एनएच 66 से उनकी गाड़ी गोकर्ण के लिए शॉर्टकट लेने के चक्कर में पतली सड़क पर उतर गई। बताया जा रहा है कि सड़क की स्थिति बहुत खराब थी और ड्राइवर का गाड़ी पर नियंत्रण नहीं रहा, जिसकी वजह से यह हादसा हुआ।


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget