बर्ड फ्लू का खौफ, मनपा अलर्ट

हेल्‍प लाइन नंबर जारी  ।  मुंबई में 70 जगहों से आई पक्षियों के मरने की शिकायत


मुंबइ

बर्ड फ्लू फ़ैलने के बाद सावधानी बरतते हुए मनपा प्रशासन ने हेल्पलाइन नंबर जारी करते हुए लोगों से अपील की है कि किसी भी पक्षी के मृत होने की जानकारी मनपा के हेल्पलाइन नंबर 1916 पर दें। इसके साथ ही मनपा ने मांस मटन विक्रेताओं को अपना परिसर स्वच्छ रखने का निर्देश दिया गया है. मनपा प्रशासन ने सभी चौबीस वार्ड के सहायक आयुक्तों को निर्देश दिया है कि अपने परिसर के मांस एवं मटन की दुकानों का सर्वेक्षण करें और दुकानदारों को दुकान के आसपास स्वच्छता करने का निर्देश दें।

 पक्षियों की मौत के बाद की गई जांच में दो पक्षियों की रिपोर्ट में बर्ड फ्लू के लक्षण पाए जाने की जानकारी सामने आई है। जिसके चलते मनपा प्रशासन सतर्क हो गया है। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने खुद आनन-फानन में बैठक लेकर गाइड लाइन बनाने का निर्देश दिया था। जिस पर मनपा प्रशासन ने इससे निपटने के लिए गाइड लाइन बनाई है। मुंबई में कहीं भी किसी भी पक्षी की मौत होने पर कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया है। मनपा ने लोगों से अपील की है कि बर्ड फ्लू की किसी भी घटना की जानकारी तत्काल मनपा के आपातकालीन कक्ष के 1916 नंबर पर जानकारी दी जा सकती है। इसी तरह राज्य सरकार द्वारा बनाए गए रिपोर्ट रिस्पॉन्स टीम में डॉ. हर्षल भोईर 998720921 और डॉ. अजय कांबले को 9987404343 नंबर पर जानकारी देने का निर्देश दिया है। 

  बर्ड फ्लू का फैलाव रोकने के लिए पशु चिकित्सा विभाग की ओर से आईईसी के अंतर्गत जनजागृति फैलाने का निर्देश मनपा अतिरिक्त आयुक्त सुरेश काकानी ने दिया है। मृत पक्षियों  को जमीन के नीचे बड़े गढ्ढे में दफनाया जाना अत्यावश्यक है। जिन स्थानों पर पक्षियों एवं मुर्गियों को दफनाया जाएगा उस स्थान पर चूने का छिड़काव भी किया जाना जरूरी है। साथ ही जिन स्थानों पर पक्षियों को दफनाया जाए उस स्थान पर आवारा जानवरों द्वारा दोबारा खोदा न जाए इसका ध्यान रखने की सख्त जरूरत है।

बर्ड फ्लू फ़ैलने के बाद मुंबई में पक्षियों के मरने की शिकायत करने के लिए मनपा की शुरू की है। हेल्पलाइन पर मंगलवार को 70 शिकायतें आईं। इन शिकायत में कबूतर मरने की चार से पांच शिकायत आईं, जबकि लगभग 65 शिकायत कौओं के मरने की शिकायत आई हैं।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget