मराठवाड़ा विद्यापीठ का नाम डॉ. आंबेडकर के नाम पर हो : देवेंद्र फड़नवीस

औरंगाबाद का नाम बदलने को लेकर सरकार की दोहरी भूमिका

fadanvis

मुंबइ

मराठवाड़ा विद्यापीठ का नाम भारत रत्न डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर होना चाहिए। यही राष्ट्रीय स्वयं संघ (आरएसएस) की भूमिका थी. बुधवार को नाशिक में आयोजित एक कार्यक्रम में बोलते हुए राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री और विधानसभा में विपक्ष नेता देवेंद्र फड़नवीस ने यह बात कही. औरंगाबाद का नाम बदलने के मुद्दे पर राज्य की महाविकास आघाड़ी सरकार पर निशाना साधते हुए पूर्व सीएम फड़नवीस ने कहा कि मराठवाड़ा विद्यापीठ का नाम बाबासाहेब आंबेडकर रखने की मांग को लेकर भाजपा के वरिष्ठ नेता दिवंगत प्रमोद महाजन और गोपीनाथ मुंडे को जेल जाना पड़ा था. इसके साथ  मराठवाड़ा विश्वविद्यालय का नाम बाबा साहेब आंबेडकर हो यह आरएसएस की भूमिका थी. जिसके लिए संघ से जुड़े नाना नवले की टीम ने यह मांग की थी, लेकिन केंद्र की तत्कालीन इंदिरा गांधी सरकार ने उन्हें गिरफ्तार करवा लिया था. 

औरंगाबाद का नामकरण संभाजीनगर करने को लेकर चल रही चर्चा पर बोलते हुए पूर्व सीएम फड़नवीस ने कहा कि औरंगाबाद नाम बदलने को लेकर राज्य की महाविकास आघाड़ी सरकार की भूमिका दोहरी है. ट्विटर पर मुख्यमंत्री कार्यालय संभाजीनगर का उल्लेख करती है और जो अधिकार में है उसका नाम नहीं बदलती है, इससे सरकार की दोहरी भूमिका स्पष्ट दिखाई पड़ती है. कुछ नेताओं द्वारा पार्टी छोड़कर जाने पर उन्होंने कहा कि भाजपा को कोई फर्क नहीं पड़ता, कुछ लोग ऐसे होते हैं राज्य में जिस पार्टी की सत्ता होती है उस पार्टी में जाते हैं .बता दें कि राज्य के औरंगाबाद जिले का नाम बदलने को लेकर राजनीति गरमाई हुई है. 

सत्ता में शामिल शिवसेना कांग्रेस और राकांपा के बीच नामकरण को लेकर शुरू विवाद के बीच मुख्यमंत्री उद्वव ठाकरे स्पष्ट करते हुए कहा था कि धर्मनिरपेक्ष में औरंगजेब का नाम नहीं बसता। एक तरफ जहां सत्ताधारी पार्टी शिवसेना नाम बदलने के पक्ष में है वहीं, दूसरी तरफ सरकार की सहयोगी दल कांग्रेस और राकांपा नाम बदलने का जमकर विरोध कर रही है। 


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget