छह वर्षों में 13 गुना बढ़ी सोलर उत्पादन क्षमता

पीएम मोदी ने केरल में की कई विकास परियोजनाओं की शुरुआत


नई दिल्ली

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चुनावी प्रदेश केरल में शुक्रवार को बिजली और शहरी क्षेत्रों की कई प्रमुख परियोजनाओं का वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए उद्घाटन और शिलान्यास किया। इस मौके पर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि शुक्रवार को 50 मेगावाट कासरगोड सोलर परियोजना का उद्घाटन किया गया। पिछले छह वर्षों में भारत का सोलर उत्पादन क्षमता 13 गुना बढ़ गई है। पीएम मोदी 320 केवी पुगलुर (तमिलनाडु)- त्रिशूर (केरल) बिजली पारेषण परियोजना का भी उद्घाटन किया। यह अत्याधुनिक हाई वोल्टेज डायरेक्ट करंट परियोजना है। इस मौके पर पीएम मोदी ने कहा कि त्रिशूर केरल का एक महत्वपूर्ण सांस्कृतिक केंद्र है और अब यह विद्युत ऊर्जा का भी केंद्र होगा। यह परियोजना राज्य की बढ़ती बिजली मांगों को पूरा करने के लिए बड़ी मात्रा में बिजली के हस्तांतरण की सुविधा प्रदान करेगी। यह परियोजना 5,070 करोड़ रुपए की लागत से बनी है। इससे पश्चिमी क्षेत्र से 2,000 मेगावाट बिजली भेजने की सुविधा मिलेगी और केरल में बिजली की मांग को पूरा किया जा सकेगा। पीएम मोदी ने कहा कि अब विश्वसनीयता के साथ बिजली तक पहुंच होगी। घरों और औद्योगिक इकाइयों को बिजली की आपूर्ति के लिए इंट्रा-स्टेट ट्रांसमिशन नेटवर्क को मजबूत करना बेहद जरूरी है। पीएम मोदी ने 50 मेगावाट की कसारगोड सौर ऊर्जा परियोजना भी राष्ट्र को समर्पित किया। इस परियोजना को राष्ट्रीय सौर ऊर्जा मिशन के तहत विकसित किया गया है। केंद्र सरकार ने कसारगोड़ जिले में 250 एकड़ में तैयार इस परियोजना में लगभग 280 करोड़ रुपए का निवेश किया है। प्रधानमंत्री तिरुवनंतपुरम में एकीकृत कमान और नियंत्रण केंद्र की आधारशिला भी रखी। तिरुवनंतपुरम में एकीकृत कमान और नियंत्रण केंद्र के निर्माण पर 94 करोड़ रुपए की लागत आएगी। इसके अलावा प्रधानमंत्री मोदी ने तिरुवनंतपुरम में स्मार्ट सड़कों की परियोजना का भी शिलान्यास किया। इसके निर्माण में 427 करोड़ रुपए खर्च होने का अनुमान है। इस परियोजना के तहत तिरुवनंतपुरम में 37 किलोमीटर की मौजूदा सड़कों को विश्व स्तरीय स्मार्ट सड़कों में बदला जाएगा।

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget