अश्विन का कमाल

Ashwin

चेन्नई

इंग्लैंड के खिलाफ चेन्नई में खेले जा रहे दूसरे टेस्ट मैच में रविचंद्रन अश्विन ने इतिहास रच दिया है। उन्होंने पहली पारी में गेंदबाजी में पांच विकेट लेने के बाद दूसरी पारी में बल्लेबाजी में शतक जड़ दिया है। 34 वर्षीय  अश्विन के टेस्ट कैरियर का यह पांचवां शतक है, लेकिन उन्होंने एक पारी में पांच विकेट और शतक लगाने का कमाल तीसरी बार किया है। इसके साथ ही उन्होंने दक्षिण अफ्रीका के दिग्गज ऑलराउंडर जैक्स कैलिस, कैरेबियाई दिग्गज गैरी सोबर्स, बांग्लादेश के शाकिब अल हसन और मुश्ताक मोहम्मद को पीछे छोड़ दिया है। इन सभी ने यह काम दो-दो बार किया था। टेस्ट मैच में सबसे अधिक बार  एक पारी में शतक और पांच विकेट लेने का कमाल इंग्लैंड के दिग्गज ऑलराउंडर इयान बॉथम के नाम है। उन्होंने यह कारनामा पांच बार किया था। बता दें कि अश्विन ने सबसे पहले साल 2011 में मुंबई में वेस्टइंडीज के खिलाफ एक टेस्ट में पांच विकेट के साथ शतकीय पारी खेली थी। उन्होंने तब 106 रन देकर पांच विकेट लिए थे और 103 रन भी बनाए थे। इसके बाद उन्होंने 2016 में वेस्टइंडीज के खिलाफ ही 83 रन देकर सात विकेट और 113 रनों की पारी खेली थी। गौरतलब है कि अश्विन ने 40 टेस्ट और 54 महीने बाद टेस्ट में अपना पांचवां शतक लगाया। इससे पहले उन्होंने अगस्त 2016 में वेस्टइंडीज के खिलाफ सेंट लुसिया में 118 रन की पारी खेली थी। जबकि घर में पिछला शतक नवंबर 2013 में वेस्टइंडीज के खिलाफ कोलकाता के ईडन गार्डन में ठोका था, तब 124 रन जड़े थे। शतक तक पहुंचने से पहले इंग्लिश टीम ने अश्विन को दो मौके भी दिए। चायकाल के ठीक अगले ओवर यानी 67.3 बॉल पर मोईन अली की गेंद पर बेन फोक्स ने स्टंपिंग का मौका गंवाया तब वह 56 रन पर खेल रहे थे, जबकि इससे पहले 28 रन पर भी उनकी पारी समाप्त हो जाती, अगर स्टुअर्ट ब्रॉड के 45वें ओवर की चौथी गेंद पर उन्हें स्टोक्स ने पहला जीवनदान नहीं दिया होता।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget