भारत की एकता अटूटः शाह

 किसान आंदोलन में विदेशी दखल पर करारा जवाब

amit shah

नई दिल्ली 

भारत के अंदरूनी मामले किसान आंदोलन पर दखलअंदाजी करने वाली पॉप गायिका रिहाना सहित मशहूर विदेशी हस्तियों के दुष्प्रचार के जरिए भारत के खिलाफ ग्लोबल साजिश पर गृहमंत्री अमित शाह ने करारा जवाब दिया है। गृहमंत्री ने कहा है कि कोई भी प्रोपेगेंडा भारत की एकता को तोड़ नहीं सकता है। ना ही कोई भारत को नई ऊंचाई पाने से रोक सकता है। भारत का भाग्य कोई प्रोपेगेंडा तय नहीं कर सकता है, केवल प्रगति तय करेगा। प्रगति के लिए भारत एक है और साथ है।'' गृहमंत्री ने ट्वीट के साथ हैशटैग  #IndiaAgainstPropaganda  #IndiaTogether का इस्तेमाल किया है।

अमेरिकी पॉप गायिका रिहाना, स्वीडन की जलवायु कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग, अमेरिकी अभिनेत्री अमांडा केरनी, अमेरिकी उप राष्ट्रपति कमला हैरिस की भतीजी मीना हैरिस एवं पॉर्न स्टार  मिया खलिफा सहित कई मशहूर हस्तियों ने भारत में किसानों के विरोध प्रदर्शन के बारे में ट्वीट किए हैं। इसको लेकर भारत में तीखी प्रतिक्रिया हुई है। विदेश मंत्रालय के अलावा सरकार के कई मंत्रियों और खेल से बॉलीवुड तक की हस्तियों ने करारा जवाब दिया है।

विदेश मंत्रालय ने कहा कि प्रदर्शन के बारे में जल्दबाजी में टिप्पणी से पहले तथ्यों की जांच-परख की जानी चाहिए और सोशल मीडिया पर हैशटैग तथा सनसनीखेज टिप्पणियों की ललक न तो सही है और न ही जिम्मेदाराना है। मंत्रालय ने कहा है कि कुछ निहित स्वार्थी समूह प्रदर्शनों पर अपना एजेंडा थोपने का प्रयास कर रहे हैं और संसद में पूरी चर्चा के बाद पारित कृषि सुधारों के बारे में देश के कुछ हिस्सों में किसानों के बहुत ही छोटे वर्ग को कुछ आपत्तियां हैं।

मंत्रालय ने एक बयान में कहा, ''हम अनुरोध करेंगे कि ऐसे मामलों में जल्दबाजी में टिप्पणी करने से पहले तथ्यों की पड़ताल की जाए और मुद्दों पर यथोचित समझ विकसित की जाए। बयान के अनुसार, '' खासतौर पर मशहूर हस्तियों एवं अन्य द्वारा सोशल मीडिया पर हैशटैग और टिप्पणियों को सनसनीखेज बनाने की ललक न तो सही है और न ही जिम्मेदाराना है।

विदेश मंत्रालय के बयान का लिंक साझाकर केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने लिखा। 'इस तरह के मुद्दे पर कमेंट करने की जल्दबाजी करने से पहले हमारा निवेदन है कि तथ्य की सही पड़ताल और मुद्दे की बेहतर समझ होनी चाहिए।' भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने लिखा, 'प्रोपेगेंडा और फेक नैरेटिव के जरिए भारत की छवि धूमिल करने के हर प्रयास के खिलाफ हम साथ खड़े हैं।'

सड़क परिवहन राज्य मंत्री वीके सिंह ने कहा, 'समय बदल रहा है। डिजिटल मीडिया प्लेटफॉर्म्स के प्रभावशाली लोगों के पास अपने फॉलोअर्स से बात करने की बड़ी शक्ति है। उन्हें अपनी शक्ति और जिम्मेदारी का एहसास होना चाहिए।' केंद्रीय मंत्री किरेन रिजिजू ने कहा, 'करीब 1000 साल तक भारत हारा, कब्जा हुआ, लूट हुई और विदेशी आक्रांताओं का शासन रहा। ऐसा इसलिए नहीं हुआ क्योंकि हम कमजोर थे। दरअसल हमारे बीच हमेशा जयचंद थे। हमें पूछना होगा कि इस इंटरनेशनल प्रोपेगेंडा के पीछे कौन है।' 

किसान आंदोलन के बहाने भारत को बदनाम करने की हो रही ग्लोबल साजिश पर भारत के खेल और फिल्म जगत से जुड़ी बड़ी हस्तियों ने अपनी प्रतिक्रिया दी है। सचिन तेंदुलकर ने ट्विटर पर लिखा, 'भारत की संप्रभुता से किसी भी तरह से समझौता नहीं किया जा सकता है। बाहरी ताकतें देख सकती हैं, लेकिन इसमें हिस्सा नहीं ले सकती हैं। भारतीय भारत को जानते हैं और भारत को लेकर फैसले ले सकते हैं। एक देश के तौर पर हम एक रहते हैं।' सचिन के अलावा फिल्म  निर्माता-निर्देशक करण जौहर, अभिनेता अजय देवगन, अक्षय कुमार, अनुपम खेर, अभिनेत्री कंगना राणावत, लेखक चेतन भगत ने सरकार का समर्थन करते हुए भारत के खिलाफ ट्वीट करने वालों को भारत की एकता संदेश देते हुए खूब खरी-खरी सुनाई है।


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget