भाजपा के मानवेंद्र बने कार्यकारी सभापति

लखनऊ

राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने रविवार को राजभवन में नवनिर्वाचित विधान परिषद सदस्य भारतीय जनता पार्टी के कुंवर मानवेंद्र सिंह को विधान परिषद के कार्यकारी सभापति की शपथ दिलाई। विधान परिषद के सभापति समाजवादी पार्टी के रमेश यादव का 30 जनवरी को कार्यकाल समाप्त होने के बाद से यह पद खाली हो गया था। भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता तथा विधान परिषद के नवनिर्वाचित सदस्य कुंवर मानवेंद्र सिंह उत्तर प्रदेश विधान परिषद के कार्यकारी सभापति होंगे। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने कुंवर मानवेंद्र सिंह को रविवार को राजभवन में विधान परिषद के लिए कार्यकारी सभापति की शपथ दिलाई। इस अवसर पर राज्यपाल के अपर मुख्य सचिव महेश कुमार गुप्ता सहित राजभवन में तैनात अन्य अधिकारी मौजूद थे। परिषद के मौजूदा सभापति रमेश यादव का कार्यकाल शनिवार को समाप्त हो गया। उनके स्थान पर सभापति की नियुक्ति न होने पर समाजवादी पार्टी ने राजभवन का दरवाजा खटखटाया था। अनुभवी व वरिष्ठ मानवेंद्र सिंह सदन के संचालन में अपनी कुशलता साबित भी कर चुके हैं। कुंवर मानवेंद्र सिंह विधान परिषद के प्रोटेम स्पीकर बनाए गए हैं। कुंवर मानवेंद्र सिंह बुंदेलखंड क्षेत्र में भाजपा के काफी जुझारू नेता माने जाते हैं। झांसी निवासी कुंवर मानवेंद्र सिंह अब विधान परिषद की कार्यवाही का संचालन करेंगे। झांसी निवासी कुंवर मानवेंद्र सिंह पार्टी के बहुत पुराने नेता हैं। उनको तो बुंदेलखंड में भाजपा की जड़ माना जाता है। वह 1980 में झांसी के भाजपा जिला अध्यक्ष बने। 1985 में भाजपा से विधायक निर्वाचित हुए। वह भाजपा युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष रहे हैं। इसके बाद लगातार दो सत्र भाजपा से विधान परिषद के सदस्य रहे हैं। वह राजनाथ सिंह की सरकार के समय विधान परिषद के कार्यवाहक सभापति के पद पर भी रहे हैं। उत्तर प्रदेश में भाजपा ने करीब 20 वर्ष तक सत्ता से बाहर रहने के कारण कुंवर मानवेंद्र सिंह ने भी 20 वर्ष का वनवास काटा था। वह अभी बुंदेलखंड विकास बोर्ड के चेयरमैन हैं। उनको मिला यह पद कैबिनेट मंत्री का दर्जा वाला होता है। इससे पहले तक यह पद हमेशा मुख्यमंत्री के पास रहा है। मुख्यमंत्री के पद पर आसीन होने के बाद योगी आदित्यनाथ ने इनको विशेष यह विशेष पद सौंपा था। इनको तो सीएम योगी आदित्यनाथ का बेहद विश्वासपात्र माना जाता है। प्रोटेम स्पीकर कुंवर मानवेंद्र सिंह ने कहा कि हमको जो जिम्मेदारी मिली है उसको निष्ठा व ईमानदारी से निभाएंगे। हमारी प्राथमिकता सदन को व्यवस्थित ढंग से चलाने की है। इसी पर हमारा जोर रहेगा। नियुक्ति पर सवाल उठने पर उन्होंने कहा कि विपक्ष का काम तो विरोध करना ही है। 


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget