जुर्माने की वसूली के साथ जागरूक करने का जिम्मा


मुंबइ

मनपा आयुक्त इकबाल सिंह चहल ने मनपा शिक्षकों को बिना मास्क के घूमने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने की जिम्मेदारी देते हुए उन्हें काम पर लगा दिया है। सरकारी इमारतों, कार्यालयों और अस्पतालों में बिना मास्क के घूमने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने की जिम्मेदारी मनपा शिक्षकों को सौपी गई है। इसके साथ ही पूजा स्थलों पर भी निगरानी रखने की जिम्मेदारी शिक्षकों को सौंपी जाएगी।

कमिश्नर इकबाल सिंह चहल ने गुरुवार को सभी अधिकारियों के साथ बैठक की और बिना मास्क के सार्वजनिक स्थानों पर घूमने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने का आदेश दिया। वर्तमान में हर दिन औसतन 12,500 लोगों पर मुकदमा किया जा रहा है। निर्धारित लक्ष्य को बढ़ाकर 25,000 कर दिया गया है। आयुक्त ने विभागीय कार्यालयों की संख्या बढ़ाकर 4,800 करने का भी निर्देश दिया है। साथ ही पुलिस को जुर्माना लगाने का अधिकार दिया है। पाया गया है कि ज्यादातर नागरिक अस्पतालों,मनपा कार्यालयों में बिना मास्क घूम रहे हैं। आयुक्त ने शिक्षकों को निर्देश दिया है कि वे मास्क के साथ सरकारी परिसरों में घूमने वालों से जुर्माना वसूलें। महापौर किशोरी पेंडकर ने कहा कि पूजा स्थलों के परिसर में एक मार्शल की नियुक्ति की जाएगी। साथ ही शिक्षकों को भी पूजा स्थलों की ज़िम्मेदारी दी जाएगी। शिक्षक नागरिकों को जागरूक करते हुए परामर्श देंगे।

शादियों, सामाजिक कार्यक्रमों में न हों शामिल  

शादी समारोह, होटल, बार सहित किसी भी सार्वजनिक कार्यक्रम में 50 से अधिक लोग पाए जाने पर आयोजकों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। महापौर पेंडकर ने कहा कि लोग आमने-सामने नहीं बैठेगें। 

मनपा ने उन लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने का फैसला किया है जो सार्वजनिक स्थानों पर मास्क नहीं पहनते हैं और थूकते हैं। इसके लिए भी मार्शल नियुक्त किया जाएगा। शादी समारोह में 50 से अधिक लोग उपस्थित न हों। सभी को मास्क पहनना अनिवार्य है।

दो कुर्सियों को छोड़कर एक व्यक्ति

महापौर ने कहा कि होटल और रेस्तरां के लिए एसओपी पहले ही जारी किए जा चुके हैं। होटलों में दो पास की कुर्सियों और आमने-सामने बैठने के लिए एक व्यक्ति को अनुमति है।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget