दुनिया का पहला वायरस अटेन्यूएशन डिवाइस भारत में विकसित

मुंबई

जाने-माने भारतीय वैज्ञानिक और आविष्कारक डॉ राजाह विजय कुमार द्वारा विकसित अपनी तरह का एकमात्र वायरस अटेन्यूएशन डिवाइस बंद जगहों‚ स्कूलों, कॉलेजों और घरों में कोरोना वायरस के प्रसार पर अंकुश लगाने में मदद कर रहा है और अस्पतालों, होटलों, कार्यालयों, रेस्तराओं, ऑडिटोरियम, परिवहन, खुदरा और हवाई अड्डे जैसे व्यवसाय वापस पटरी पर आ रहे हैं और अपने घरेलू और बाहरी ग्राहकों को सुरक्षित वातावरण में सेवा दे रहे हैं। शायकोकैन कारपोरेशन द्वारा निर्मित इस बेलनाकार उपकरण को शायकोकैन (स्केलेन हाइपरचार्ज कोरोना कैनन) कहा जाता है। इसे न केवल निमोनिया‚ एआरडीएस‚ सार्स‚ मर्स‚ कोविड–19 और अन्य कोरोना वायरस-प्रेरित रोग जैसे रोग पैदा करने वाले कोरोनो वायरस परिवार‚ बल्कि वार्षिक मौसमी फ्लू और स्वाइन फ्लू और बर्ड फ्लू जैसी महामारी को ट्रिगर करने वाले इन्फ्लुएंजा परिवार के प्रसार से इनडोर स्थानों को सुरक्षित रखने में प्रभावी पाया गया है। उल्लेखनीय रूप से, शायकोकैन इन वायरस के सभी वर्तमान और भविष्य के वेरिएंट और म्यूटेंट पर काम करता है, लोगों के स्वास्थ्य की रक्षा करता है और लाखों घंटों की उत्पादकता को नष्ट होने से बचाता है।


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget