बच्चे को इस आसान तरीके से ​खिलाएं गोली


बच्चे की तबियत कभी भी और किसी भी वजह से बिगड़ सकती है। ऐसे में उसे तरह-तरह की दवाईयां भी खानी पड़ती हैं। मगर दिक्कत की बात ये है कि हर बच्चा दवाई खाने में सक्षम नहीं होता है। कुछ बच्चे मुंह में दवा खासकर गोली वाली दवा लेते ही उल्टी कर देते हैं।

इससे उनकी तबियत और खराब जाती है। यदि आपके बच्चे के साथ भी यही समस्या है, तो अब परेशान न हों। आप खुद में धैर्य बनाए रखें और बहुत प्यार से बच्चे को गोली खाने की सही तकनीक सिखाएं।

​किस उम्र से बच्चे गोली खा सकते हैं

आमतौर पर छोटे बच्चों को दवा के तौर पर सिरप दी जाती है। कुछ दवाईयां सिर्फ च्युइंगम की तरह होती है। इन्हें बच्चे आसानी से खा सकते हैं, लेकिन कुछ बीमारियों की दवा गोली के आकार में आती है, जो मजबूरी में बच्चों को खानी पड़ती है।

हालांकि, 4 साल की उम्र के बच्चे को गोली खाने की तकनीक सिखाई जा सकती है ताकि मुसीबत में बच्चा सही तरह से गोली खा सके।

पेरेंट्स बच्चे को गोली खाना कैसे सिखाएं

खाना खिलाने की ट्रेनिंग तो आसानी से दी जा सकती है, लेकिन गोली खाने की ट्रेनिंग काफी मुश्किल भरी है। यह बिल्कुल वैसा ही है जैसे कि आप अपने बच्चे को पॉटी ट्रेनिंग दे रही हैं। खैर, अपने बच्चे को निम्न तरीकों से गोली खाने की सही तकनीक बता सकती हैं -

दवा देने से पहले बच्चे से कहें वह पानी का कुछ घूंट पिए। पानी पीने से मुंह गीला हो जाएगा और दवा निगलने में आसानी होगी।

दवा को बच्चे के जीभ के ऊपरी हिस्से पर रखें। जब वह पानी पिए तो बच्चे से सिर को हल्का सा पीछे को ओर करने को कहें। इससे गोली पानी की मदद से पीछे की ओर चली जाएगी। यदि बच्चा गोली जीभ के बीचो-बीच नहीं रख पा रहा है, तो जीभ के अंदरूनी सिरे में गोली रखकर पानी पीने को कहें। ऐसे भी गोली आसानी से अंदर चली जाती है।

​गोली निगलना कैसे सिखाएं

गोली खाने से पहले बच्चे को कहें कि वह अपने मुंह में पानी भरकर कुछ देर के लिए गरारा करे। इसके बाद गोली खाए।गोली निगलने का एक शानदार तरीका है कि जब आपका बच्चा खाना निगल रहा हो, उसके मुंह में गोली दे दें। इसके साथ बच्चे को पानी पीने के लिए कहें। खाने के साथ-साथ गोली भी बच्चे के अंदर चली जाएगी। बच्चे को गोली पीसकर भी दे सकती हैं। पिसी गोली को किसी नरम आहार जैसे साॅस, दही आदि में मिला दें और बच्चे को खिला दें। लेकिन ध्यान रखें कि दवाई पीसकर देने से पहले डाॅक्टर से पूछ लें। हर तरह की दवा पीसकर नहीं खिलाई जा सकती है। गोली खाने से पहले बच्चे को कहें कि वह अपने मुंह में पानी भरकर थोड़ी देर के लिए कुल्ला करे। जैसे ही वह उस पानी को पीने लगे, उसकी जीभ में दवा रख दें। अगर उपरोक्त बताए गए उपायों को अपनाने के बावजूद बच्चा दवा नहीं खा पा रहा है, तो डॉक्टर से संपर्क करें। संभव हुआ तो डॉक्टर सिरप वाली दवा दे सकते हैं।


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget