दिल्ली से निकल देश भर में फैलेगा किसान आंदोलन


नई दिल्ली

भारतीय किसान यूनियन (बीकेयू) के नेता राकेश टिकैत ने कहा कि केंद्रीय कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन की अगुवाई कर रहे 40 नेता समर्थन के लिए देश भर में दौरा करेंगे। करनाल के इंद्री में किसान महापंचायत को संबोधित करते हुए टिकैत ने कहा कि किसान संगठन केंद्र सरकार को तब तक चैन से नहीं बैठने देंगा, जब तक किसानों की मांग पूरी नहीं हो जाती।उन्होंने कहा, ट्रैक्टर परेड के लिए इस बार लक्ष्य 40 लाख ट्रैक्टर होंगे। हम सभी 40 नेता समर्थन हासिल करने के लिए पूरे देखा का दौरा करेंगे। हर कोई आंदोलन के लिए एकजुट है। 

अब, किसान देश का भविष्य तय करेंगे। उन्होंने कहा, जब तक सरकार हमारी मांगों को पूरा नहीं करती है और हमसे बात नहीं करती है, तब तक हम केंद्र को शांति से नहीं बैठने देंगे। यदि न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) पर कानून बनाया जाता है, तो पूरे देश को लाभ होगा। सभी तीन कृषि कानूनों को वापस ले लिया जाए। किसान संघों द्वारा जो भी निर्णय लिए जाएं, वे सभी को स्वीकार्य हैं।

बीकेयू के प्रवक्ता ने कहा कि ‘पंच’ और ‘मंच’ वही रहेंगे। उन्होंने कहा, “हमारे दिमाग को खराब मत करो। किसान और जवान दोनों ने  कहा है कि बिल वापस लो, हमने अभी तक ‘गड्डी’ वापस करने का नारा नहीं उठाया है, इसलिए बेहतर है कि आप हमारा काम करते रहो।”  टिकैत ने यह भी आरोप लगाया कि कृषि कानून सार्वजनिक वितरण प्रणाली को समाप्त कर देंगे।

इस अवसर पर टिकैत के अलावा किसान नेता बलबीर सिंह राजेवाल, दर्शन पाल और हरियाणा बीकेयू प्रमुख गुरनाम सिंह चारुणी भी उपस्थित थे।आपको बता दें कि केंद्र सरकार ने 12-18 महीनों के लिए कृषि कानूनों को रोककर रखने की पेशकश की है। किसानों के यूनियनों द्वारा कानूनों के खिलाफ विरोध करने वाले प्रस्ताव को खारिज कर दिया गया है। तीन नए कानूनों को निरस्त करने की मांग को लेकर किसानों के साथ कई दौर की बातचीत हो चुकी है।


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget