भारत ने पहले ही पास कर दी थी एस्‍ट्राजेनेका की कोरोना वैक्‍सीन

astrazeneca vaccine

नई दिल्‍ली

कोविड-19 से एक वर्ष से अधिक समय से जूझ रही दुनिया के लिए एक अच्‍छी खबर सामने आई है। ये खबर इसकी वैक्‍सीन से जुड़ी है। दरअसल, विश्व स्वास्थ्य संगठन के एक्‍सपर्ट पैनल ने कोरोना वायरस के नए स्‍ट्रेन की रोकथाम के लिए ऑक्‍सफोर्ड-एस्‍ट्राजेनेका की वैक्‍सीन को सही मानते हुए इस पर मुहर लगा दी है। इस एक्‍सपर्ट पैनल का कहना है कि इस वैक्‍सीन को उस मरीज को देना सही कदम है जो कोरोना वायरस के नए स्‍ट्रेन से संक्रमित है। भारत की ही बात करें तो इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के अध्‍यक्ष डॉक्‍टर जेए जयलाल का कहना है कि सरकार ने यहां पर एस्‍ट्राजेनेका/ऑक्‍सफोर्ड दोनों की ही वैक्‍सीन को मंजूरी दे रखी है। जहां तक इन वैक्‍सीन को लोगों को लगाने की बात है तो जहां जिसकी उपलब्‍धता है उसके हिसाब से भारतीय वैक्‍सीन और इन वैक्‍सीन को लगाया जा रहा है।

उनके मुताबिक विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन की तरफ से सामने आने वाली ये खबर निश्चित तौर पर उन देशों के लिए एक वरदान साबित हो सकती है जहां पर वायरस का नया स्‍ट्रेन समस्‍या खड़ा कर रहा है। संगठन की तरफ से इस वैक्‍सीन की दो खुराक को 12 सप्‍ताह के अंतराल पर देने की सिफारिश की है। इसी तरह की सिफारिश ब्रिटेन के विशेषज्ञों ने भी की थी। हालांकि उनकी इस सिफारिश को जर्मनी के विशेषज्ञों ने गलत बताया था। 


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget