शेयरों में उछाल से कंपनियां हुईंं मालामाल

सेंसेक्स की टॉप-10 कंपनियों का मार्केट कैप 1.40 लाख करोड़ बढ़ा


नई दिल्ली

शेयर बाजारों में पिछले सप्ताह तेजी का सिलसिला बने रहने के साथ शीर्ष दस में से सात कंपनियों की बाजार हैसियत कुल मिला कर 1,40,430.45 करोड़ रुपये बढ़ गयी। इनमें सबसे ज्यादा लाभ रिलायंस इंडस्ट्रीज को हुआ। सप्ताह के दौरान बीएसई 30 सेंसेक्स कुल मिला कर 812.67 अंक यानी 1.60 प्रतिशत चढ़ गया। लाभ में रहे प्रमुख शेयरों में रिलायंस इंडस्ट्रीज, टीसीएस, इन्फोसिस, एचडीएफसी, आईसीआईसीआई बैंक, भारतीय स्टेट बैंक और बजाज फाइनेंस शामिल है।  एचडीएफसी बैंक, हिंदुस्तान यूनिलीवर और कोटक महिंद्रा में गिरावट रही। रिलायंस इंडस्ट्रीज का बाजार मूल्यांकन 74,329.95 करोड़ बढ़ कर 12,94,038.34 करोड़ रुपये पर पहुंच गया।  आईसीआईसीआई बैंक के बाजार पूंजीकरण में 22,943.86 करोड़ की वृद्धि दर्ज की गयी और कंपनी की शेयर भाव के हिसाब से हैसियत 4,47,323.82 करोड़ रुपये पर पहुंच गयी।  इन्फोसिस का बाजार पूंजीकरण 15,888.27 करोड़ रुपये उछल कर 5,57,835.85 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। एचडीएफसी की हैसियत 12,439.33 करोड़ रुपये सुधर कर 5,02,316.66 करोड़ रुपये, टीसीएस की 12,420.4 करोड़ रुपये बढ़ कर 11,97,442.25 करोड़ रुपये पर पहुंच गयी।  बजाज फाइनेंस की बाजार हैसियत 2,274.77 करोड़ रुपये चढ़ कर 3,36,032.83 करोड़ रुपये और भारतीय स्टेट बैंक की बाजार हैसियत 133.87 करोड़ रुपये के सुधार के साथ 3,50,915.73 करोड़ रुपये हो गयी। इसके विपरीत एचडीएफसी बैंक का शेयर भाव के हिसाब से मूल्यांकन 8,015.87 करोड़ रुपये गिर कर 8,71,719.64 करोड़ रुपये, हिंदुस्तान यूनीलीवर का 6,684.48 की हानि के साथ 5,26,747.02 करोड़ रुपये और कोटक महिंद्रा बैंक का बाजार पूंजीकरण 6,160.88 रुपये संकुचित हो सप्ताहांत 3,86,580.16 करोड़ रुपये पर आ गया। मूल्यांकन के हिसाब से रिलायंस इंडस्ट्रीज बाजार की सबसे बड़ी कंपनी रही। उसके बाद टीसीएस और एचडीएफसी बैंक का स्थान है।

बजट बाद शेयर बाजार में उत्साह

नई दिल्ली

केंद्रीय बजट में सुधारवादी कदमों की घोषणा से शेयर बाजार में जबरदस्त उत्साह है और विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) फरवरी में अब तक भारतीय बाजारों में 22,038 करोड़ रुपये का शुद्ध पूंजी निवेश कर चुके हैं। डिपॉजिटरी के आंकड़ों के मुताबिक इस दौरान विदेशी निवेशकों ने शेयरों में 20,593 करोड़ रुपये और ऋणपत्रों में 1,445 करोड़ रुपये लगाये हैं। इस तरह एक फरवरी से 12 फरवरी के दौरान शुद्ध निवेश 22,038 करोड़ रुपये रहा। जनवरी में एफपीआई ने 14,649 करोड़ रुपये का शुद्ध निवेश किया था।  मॉर्निगस्टार इंडिया के सहायक निदेशक (प्रबंधक शोध) हिमांशु श्रीवास्तव ने इसके लिये फरवरी में केंद्रीय बजट के बाद शेयर बाजारों में बनी सकारात्मक धारणा को जिम्मेदार बताया। उन्होंने कहा कि अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के बजट में सरकार के प्रयासों को निवेशकों ने सराहा है।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget