गायब लड़की को धरती खा गई या निगल गया आसमान : जज

नालंदा

किशोर न्याय परिषद के प्रधान दंडाधिकारी मानवेंद्र मिश्र ने बिहार के नालंदा जिले के परवलपुर थाना क्षेत्र के गांव से लापता लड़की की बरामदगी एवं लहेरी थाना क्षेत्र की बाजार समिति से वर्ष 2018 में मिली युवती की सिरकटी लाश के संबंध में विस्तृत रिपोर्ट देने को कहा है। इन्होंने एसपी हरि प्रसाथ एस को पत्र भेजकर इस संबंध में अद्यतन स्थिति की रिपोर्ट 10 फरवरी तक देने को कहा है। जज ने गायब लड़की के संबंध में कड़ी टिप्पणी करते हुए कहा है कि गायब हुई लड़की को क्या आसमान निगल गया या जमीन खा गयी। पुलिस अनुसंधान पर भी सवालिया निशान उठाते हुए कहा है कि संविधान द्वारा नागरिकों को गरिमापूर्ण तरीके से जीने का अधिकार मिला है। पुलिस के इस उदासीन एवं धीमी अनुसंधान से यह लक्ष्य धूमिल हो रही है। कोर्ट ने एसपी से 5 बिंदुओं पर जवाब मांगा है। इसके तहत कोर्ट ने पूछा है कि गायब हुई लड़की की बरामदगी के लिए अनुसंधानक ने अब तक क्या कार्रवाई की। दूसरी बाजार समिति से बरामद लाश की डीएनए जांच की ताजा स्थिति क्या है। अगर वह लाश निभा की नहीं है, तो फिर किसकी लाश थी। उस सिरकटी लाश का कोई अन्य दावेदार अब तक दावा पेश किया या नहीं। सिरकटी लाश के संबंध में पुलिस ने कोई यूडी केस दर्ज किया है अथवा नहीं। इस संबंध में अब तक की जांच रिपोर्ट देने को कहा है। 7 जुलाई 2018 को परवलपुर थाना क्षेत्र निवासी विनय प्रसाद ने अपनी नाबालिग पुत्री निभा कुमारी की लापता होने की एफआईआर करायी थी। इसमें तीन को आरोपी बनाया था। पुलिस ने अनुसंधान के दौरान अारोपियों को गिरफ्तार किया। इसमें आरोपियों ने लड़की के साथ बातचीत करने की बात स्वीकार की थी। जबकि एक ने बताया था कि लड़की अक्सर शादी के लिए दबाव बनाती थी। इसकी पुष्टि मोबाइल सीडीआर से भी हुई। इसी दौरान 19 जुलाई 2018 को बाजार समिति से युवती की सिरकटी लाश बरामद हुई थी। इसकी पहचान सूचक व उनके परिजनों ने अपनी पुत्री के रूप में किया था, लेकिन पुलिस ने इसे और अधिक पुष्टि के लिए लाश का डीएनए टेस्ट कराने का निर्णय लिया था। इसकी सहमति सूचक ने दी थी। इसके बाद कोर्ट ने डीएनए टेस्ट कराने का आदेश दिया था। इस बीच 6 अक्टूबर 2018 को तीनों आरोपियों के खिलाफ पुलिस ने कोर्ट में आरोप पत्र समर्पित किया। लेकिन, पुलिस ने यह अनुसंधान में खुलासा नहीं किया था कि जिस युवती का सिर कटी लाश बरामद हुई वह वाकई में निभा कुमारी की है। साथ ही एफएसएल के संबंध में भी कोई स्पष्ट प्रतिवेदन नहीं दिया।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget