इन वजहों से बढ़ा अमरावती में कोरोना

विवाह समारोह की अनुमति भी नहीं: यशोमति ठाकुर

Yashomati Thakur

मुंबइ

विदर्भ के अमरावती जिले में कोरोना का सबसे अधिक प्रकोप देखा जा रहा है। शहर और आसपास के इलाकों में मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए 22 फरवरी से एक सप्ताह का लॉकडाउन लगा दिया गया है। अमरावती में अचानक कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ने के सवाल पर जिले की पालक मंत्री यशोमति ठाकुर ने इसके पीछे दो-तीन वजह गिनाई। यहां विशेष बातचीत में उन्होंने कहा कि जिन लोगों को होम आइसोलेशन में रहना था, वे लोग बाहर निकल गए। दूसरी बड़ी वजह ग्राम पंचायत चुनाव भी रहे। अमरावती जिले में तकरीबन 500 ग्राम पंचायतों के चुनाव हुए। तीसरी वजह अमरावती का बड़ा मार्केट भी है। यहां इंदौर और अन्य जगहों से काफी लोगों का आना-जाना लगा रहता है। यशोमति ठाकुर ने कहा कि क्षेत्र में एक सप्ताह का लॉकडाउन लगा दिया गया है, यहां तक कि शादी-विवाह समारोह की अनुमति नहीं दी जा रही है। अमरावती में पिछले शनिवार को एक हजार से अधिक कोरोना मरीजों के मिलने के बाद प्रशासन को चिंता में डाल दिया था। इसके बाद प्रशासन ने सख्त कदम उठाते हुए वहां एक सप्ताह का लॉकडाउन लगा दिया। जिले के दो हजार से ज्यादा पुलिसकर्मियों को लॉकडाउन नियमों की देखरेख के काम में लगाया गया है। जिले की सीमाओं को सील कर दिया गया है और मुख्य चौक-चौराहों पर विशेष चौकसी बरती जा रही है। अमरावती के एक सप्ताह के लॉकडाउन के अलावा आस-पास के अन्य चार जिलों पर भी कुछ प्रतिबंध लगाए गए हैं। ये जिले हैं अकोला, वाशिम, बुलढाना और यवतमाल। मंत्री यशोमति ठाकुर ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान मूलभूत जरूरतों की दुकानें छोड़कर अन्य सभी दुकानें और बाजार बंद कर दिए गए हैं।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget