अपने पार्टनर को 'I love you'बोलने से पहले कह दीजिए ये खास बातें

valentine

प्यार हुआ नहीं, कि पार्टनर से वे तीन जादुई शब्द सुनने के लिए आप का दिल मचलता रहता है। ये तीन शब्द आपको उनके प्यार का यकीन दिलाते हैं और अगर आपने पहले ये शब्द कह दिए, तब तो उनसे इन्हें सुनने की बेताबी और भी बढ़ जाती है। लेकिन क्या आप जानते हैं वे 11 बातें, जो आपके पार्टनर के लिए इन तीन शब्दों से भी ज्यादा मायने रखती हैं। अगर नहीं जानते, तो जानिए और याद कीजिए कि आपके पार्टनर ने अभी तक ये बातें आपसे कही है या नहीं ...

 मैं हूं ना : प्यार जताना और प्यार निभाना दो अलग चीजें हैं। किसी का साथ उनके अच्छे समय में होना बहुत आसान होता है परंतु मुश्किल में आपने होने का यकीन दिलाने वाला साथी हो तो यह सोने पर सुहागे वाली बात है। इससे बेहतर प्यार की पहचान नहीं हो सकती।

 सब ठीक हो जाएगा : ऐसा तो कोई भी कहता ही है। बल्कि हर कोई कहता है। लेकिन जब यही शब्द कोई ऐसा इंसान कहता है, जिसके शब्दों पर आपको यकीन हो, तो बात बहुत खास हो जाती है। आप लगभग मान ही लेते हैं कि वाकई सब ठीक हो जाएगा।

कोई बात नहीं : हर रिश्ते में कोई ऐसी बात किसी के मुंह से ही निकल जाती है जो दूसरे को बुरी लग जाती है। या तो तुरंत ही या थोड़ी देर बाद आपको अपने कहे पर पछतावा भी होता है। ऐसे में अगर सामने वाला आपकी गलती का एहसास कराने के बजाए आपको तुरंत माफ कर - 'कोई बात नहीं' कह दे, तो आप समझ सकते हैं कि वे आपकी गलती हमेशा माफ कर देंगे।

मुझे माफ कर दो : किसी को माफ करना बड़ा काम है, लेकिन अपनी गलती पहचानकर माफी मांगना उससे भी बड़ा। अगर आपके पार्टनर ने किसी बात के लिए दिल से आपसे माफी मांगी है, तो आपके मन में उनके लिए इज्जत और बढ़ जाती है। आप समझ जाते हैं कि उनका आपको ठेस पहुंचाने का इरादा कभी नहीं हो सकता।

 मुझे बताओ पूरी बात : आपके बीच लंबी बातचीत होती है। परंतु जैसे ही आप अपने मन की बात कहने की कोशिश करते हैं उन्हें बोरियत होती है। आपके पार्टनर आपकी पूरी बात तब सुने जब आप दुखी हों, परेशान हों या बहुत खुश हों, तो उनके सही साथी होने का अहसास आपको हो जाता है।

 रिलेक्स, मैं कर दूंगा : कुछ काम ऐसे होते हैं जो आप किन्हीं कारणों से कर नहीं पा रहे हैं, परंतु उनका न होना आपको परेशान कर रहा है। ऐसे में अगर आपके पार्टनर आपके इन कामों को निपटा दें तो आपको बहुत आराम हो जाता है।

पहुंच के कॉल या मैसेज करना : अगर आपके पार्टनर आपको यह एहसास दिलाते हैं कि उन्हें आपकी परवाह है, तो आपको उनके प्यार का अहसास लगातार बना रहता है। अक्सर परवाह करने वाले पार्टनर आपके कहीं पहुंचने पर आपसे कॉल या मैसेज की उम्मीद करते हैं, जिससे उन्हें आपके सही सलामत पहुंचने का पक्का पता चल जाए।

 इस बारे में तुम्हारा क्या सोचना है : आपका दिन कैसा गुजरा ठीक है। परंतु कितनी बार आपके साथी और भी खास मुद्दों पर आपसे खुलकर बात करते हैं। इसमें आपके और उनके भविष्य की बात सबसे खास होगी। वो इस बारे में आपकी राय जरूर जानना चाहेंगे।

कैसे लग रहा है तुम्हें? : आप चितिंत हैं तो उन्हें तुरंत पता चल जाता है। वो लगातार आपसे पूछते हैं कि आपको कैसा लग रहा है। जाहिर है वो कुछ कर नहीं सकते इसलिए नहीं कर रहे हैं, परंतु फिर भी आपको उनके पास होने का अहसास हमेशा होता रहेगा।

 तुम बहुत सुंदर हो : आपमें ऐसी बहुत सी चीजें हैं जो आपके पार्टनर को पसंद हैं। यही चीजें उनके प्यार की वजह हैं परंतु फिर भी अगर उन्हें लगता है कि आप बहुत खूबसूरत हैं तो आपकी खुशी का ठिकाना नहीं रहता।

 तुम चिंता मत करो : अक्सर हम चीजों को लेकर परेशान हो जाते हैं। ये किसी प्रकार की दिक्कत हो सकती है। परंतु किसी खास का साथ हमेशा रहे तो मुश्किलें कम परेशान कर पाती हैं। वह कह दे कि आपको चिंता करने की जरूरत नहीं इसका मतलब आपकी चिंता काफी हद तक कम हो चुकी है।

वेलेंटाइन डे का इतिहास

14 फरवरी को मनाया जाने वाला यह दिन विभिन्न देशों में अलग-अलग तरह से और अलग-अलग विश्वास के साथ मनाया जाता है। पश्चिमी देशों में तो इस दिन की रौनक अपने शबाब पर ही होती है, मगर पूर्वी देशों में भी इस दिन को मनाने का अपना-अपना अंदाज होता है।

प्यार का दिन, प्यार के इजहार का दिन। अपने जज्बातों को शब्दों में बयां करने के लिए इस दिन का हर धड़कते हुए दिल को बेसब्री से इंतजार होता है। जी हां, हम बात कर रहे हैं, प्यार के परवानों के दिन की, वेलेंटाइन-डे की...। प्यार भरा यह दिन खुशियों का प्रतीक माना जाता है और हर प्यार करने वाले शख्स के लिए अलग ही अहमियत रखता है।
इस पर्व पर पश्चिमी देशों में पारंपरिक रूप से इस पर्व को मनाने के लिए 'वेलेंटाइन-डे' नाम से प्रेम-पत्रों का आदान प्रदान तो किया जाता है ही, साथ में दिल, क्यूपिड, फूलों आदि प्रेम के चिन्हों को उपहार स्वरूप देकर अपनी भावनाओं को भी इजहार किया जाता है। 19वीं सदीं में अमेरिका ने इस दिन पर अधिकारिक तौर पर अवकाश घोषित कर दिया था।
1260 में संकलित की गई 'ऑरिया ऑफ जैकोबस डी वॉराजिन' नामक पुस्तक में सेंट वेलेंटाइन का वर्णन मिलता है। इसके अनुसार रोम में तीसरी शताब्दी में सम्राट क्लॉडियस का शासन था। उसके अनुसार विवाह करने से पुरुषों की शक्ति और बुद्धि कम होती है। उसने आज्ञा जारी की कि उसका कोई सैनिक या अधिकारी विवाह नहीं करेगा। संत वेलेंटाइन ने इस क्रूर आदेश का विरोध किया। उन्हीं के आह्वान पर अनेक सैनिकों और अधिकारियों ने विवाह किए। आखिर क्लॉडियस ने 14 फरवरी सन् 269 को संत वेलेंटाइन को फांसी पर चढ़वा दिया। तब से उनकी स्मृति में प्रेम दिवस मनाया जाता है।
ऐसा माना जाता है कि वेलेंटाइन-डे मूल रूप से संत वेलेंटाइन के नाम पर रखा गया है। परंतु सैंट वेलेंटाइन के विषय में ऐतिहासिक तौर पर विभिन्न मत हैं और कुछ भी सटीक जानकारी नहीं है। 1969 में कैथोलिक चर्च ने कुल ग्यारह सेंट वेलेंटाइन के होने की पुष्टि की और 14 फरवरी को उनके सम्मान में पर्व मनाने की घोषणा की। इनमें सबसे महत्वपूर्ण वेलेंटाइन रोम के सेंट वेलेंटाइन माने जाते हैं। कहा जाता है कि सेंट वेलेंटाइन ने अपनी मृत्यु के समय जेलर की नेत्रहीन बेटी जैकोबस को नेत्रदान किया व जेकोबस को एक पत्र लिखा, जिसमें अंत में उन्होंने लिखा था 'तुम्हारा वेलेंटाइन'। यह दिन था 14 फरवरी, जिसे बाद में इस संत के नाम से मनाया जाने लगा और वेलेंटाइन-डे के बहाने पूरे विश्व में निःस्वार्थ प्रेम का संदेश फैलाया जाता है।

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget