SEBI के फैसले के खिलाफ SAT पहुंचे फ्यूचर ग्रुप के फाउंडर किशोर बियानी

kishor biyani

नई दिल्ली

सिक्युरिटीज एंड एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया (SEBI) ने फ्यूचर ग्रुप के फाउंडर किशोर बियानी पर कैपिटल मार्केट में लेनदेन पर एक साल का बैन लगा दिया है। इसके अलावा उनके भाई अनिल बियानी और फ्यूचर कॉरपोरेट रिसोर्सेज लिमिटेड (FCRL) पर भी बैन लगाया गया था। SEBI के इस फैसले के खिलाफ बियानी भाई और FCRL सिक्युरिटीज अपीलेट ट्रिब्यूनल (SAT) पहुंच गए हैं।

  SEBI ने तीन फरवरी को बियानी भाइयों और FCRL पर यह बैन कथित इनसाइडर ट्रेडिंग के आरोपों के बाद लगाया था। बियानी भाइयों और FCRL पर 2017 में फ्यूचर रिटेल लिमिटेड के शेयर्स में कथित तौर पर इनसाइडर ट्रेडिंग का आरोप है। SEBI ने बियानी भाइयों और FCRL पर फ्यूचर रिटेल लिमिटेड के शेयर खरीदने, बेचने या प्रत्यक्ष-अप्रत्यक्ष रूप से किसी भी प्रकार का सौदा करने पर 2 साल की रोक लगाई है। साथ ही सभी पर 1 करोड़ रुपए का जुर्माना लगाया गया है। SEBI ने तीनों से गलत तरीके से कमाए गए 17.78 करोड़ रुपए 12% की ब्याज के साथ जमा करने को कहा है।

 मार्च-अप्रैल 2017 का है मामला

 इनसाइडर ट्रेडिंग का यह मामला मार्च-अप्रैल 2017 का है। SEBI के मुताबिक, बियानी भाइयों ने फ्यूचर रिटेल के कुछ बिजनेस के डी-मर्जर से पहले अनपब्लिश्ड सेंसेटिव इन्फॉर्मेशन के आधार पर एक ग्रुप कंपनी के जरिए फ्यूचर रिटेल के शेयरों की खरीदारी की। इस कदम से फ्यूचर रिटेल के शेयरों में तेजी आ गई। SEBI ने जांच में पाया कि बियानी भाइयों ने फ्यूचर कॉरपोरेट रिसोर्सेज प्राइवेट लिमिटेड नाम के ट्रेडिंग अकाउंट खोलकर शेयरों की खरीद-फरोख्त की।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget