ऑफलाइन होंगी 10वीं-12वीं की परीक्षाएं

आधा घंटा ज्‍यादा मिलेगा  पेपर लिखने का समय 

Varsha Gaikwad

मुंबई

छात्रों की बढ़ती मांग को देखते हुए कक्षा 10वीं और 12वीं की लिखित परीक्षाएं ऑफलाइन पद्धति से आयोजित की जाएगी। इस बार पेपर लिखने के लिए छात्रों को आधा घंटे का अधिक समय दिया जाएगा। कोविड-19 की वजह से यदि कोई छात्र परीक्षा नहीं दे पाएगा तो उसके लिए जून माह में विशेष परीक्षा आयोजित की जाएगी। शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड ने शनिवार को आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में इस बात की जानकारी दी।

यहां मंत्रालय में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में उन्‍होंने कहा कि पहले से घोषित कार्यक्रम के अनुसार कक्षा 10वीं की लिखित परीक्षा 29 अप्रैल से 20 मई 2021 के दौरान होगी, जबकि 12वीं की परीक्षा 23 अप्रैल से 20 मई के बीच ली जाएगी। कोरोना की परिस्थिति के कारण लिखित परीक्षा उसी स्‍कूल अथवा जूनियर कॉलेजों में होगी, इससे छात्रों और अभिभावकों को परीक्षा केंद्रों पर जाना सुविधाजनक होगा। उन्‍होंने कहा कि अपवाद की स्थिति में कक्षाओं की कमी होने के मामले में निकटतम स्‍कूलों के उपकेंद्रों में परीक्षा आयोजित की जाएगी। ‍‍  

पर्चा लिखने का समय बढ़ा  

उन्‍होंने कहा कि हर साल 80 नंबरों की लिखित परीक्षा के लिए 3 घंटे का समय दिया जाता था, लेकिन इस साल लेखन अभ्‍यास में कमी की वजह से लिखित परीक्षा का समय 30 मिनट बढ़ा दिया गया है, जबकि 40 से 50 अंकों की परीक्षा का समय 15 मिनट बढ़ा दिया गया है। दिव्‍यांग छात्रों को सामान्‍य छात्रों की अपेक्षा हर घंटे  में 20 मिनट का अधिक समय मिलेगा।

विशेष परीक्षा

वर्षा गायकवाड ने कहा कि परीक्षा के दौरान यदि किसी छात्र में कोविड के लक्षण दिखाई दिए अथवा कोरोना के प्रकोप के कारण या लॉकडाउन, कंटेनमेंट जोन, कर्फ्यू आदि के कारण छात्र परीक्षा देने की स्थिति में नहीं होंगे तो ऐसे छात्रों के लिए जून माह में विशेष परीक्षा का आयोजन किया जाएगा। ये परीक्षा केंद्र  शहरी क्षेत्रों में निर्दिष्ट स्थानों तथा ग्रामीण क्षेत्रों में तालुका मुख्यालय में बनाए जाएंगे।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget