100 करोड़ पर घिरी उद्धव सरकार

गृहमंत्री अनिल देशमुख पर बना इस्‍तीफे का दबाव

parambir singh

मुंबई

मुंबई पुलिस के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह के लेटर बम से महाविकास आघाड़ी सरकार घिर गई है। सरकार किसी तरह इस मामले में डैमेज कंट्रोल की कोशिश कर रही थी, लेकिन परमबीर सिंह के 'लेटर बम' ने रही सही कसर पूरी कर दी। उन्‍होंने पर्दे के पीछे की बातों को जिस तरह सरेआम किया है, उससे गृहमंत्री अनिल देशमुख पर इस्‍तीफे देने का दवाब बढ़ता रहा है। विपक्ष ने उनके इस्‍तीफे की पूरजोर मांग की है।

देशमुख, परमबीर सिंह का हो नार्को टेस्‍ट: कोटक  

उत्‍तर पूर्व मुंबई के सांसद मनोज कोटक ने महाविकास आघाड़ी सरकार को एक्‍सटॉर्शन सरकार बताया। उन्‍होंने इस मामले में गृहमंत्री अनिल देशमुख, परमबीर सिंह और सचिन वझे के नार्को टेस्‍ट की मांग की, ताकि सच सामने आ सके। 

सरकार के भ्रष्‍टाचार का परमवीर: शेलार  

पूर्व मंत्री और भाजपा नेता आशीष शेलार ने कहा कि विश्‍व में विख्‍यात मुंबई पुलिस की प्रतिमा को धूल में मिलाते हुए भ्रष्‍टाचारी पब, पेंग्निव, पार्टी गैंग ने पुलिस को वसूली अधिकारी बना दिया। पुलिस की बदनामी की पूरी जवाबदारी ठाकरे सरकार पर है। जनता कोविड से जूझ रही है और सरकार 100 करोड़ वसूल कर रही है। यह ठाकरे सरकार के भ्रष्‍टाचार का परमवीर है। 

देशमुख से लिया जाए इस्‍तीफा: फड़नवीस  

विधानसभा में सचिन वझे मामले को जोरशोर से उठा चुके नेता प्रतिपक्ष देवेंद्र फड़नवीस ने 'लेटर बम' सामने आने के बाद कहा कि यह पत्र न केवल सनसनीखेज है, बल्कि बेहद चौंकाने वाला है। महाराष्ट्र के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है कि किसी मौजूदा अधिकारी ने सीधे राज्य के गृह मंत्री के बारे में ऐसा पत्र लिखा है। ऐसे में इस पूरे मामले की जांच केंद्र सरकार या अदालत की निगरानी में की जाए और गृहमंत्री अनिल देशमुख से तुरंत इस्तीफा लिया जाए। फड़नवीस ने कहा कि परमबीर सिंह ने पत्र के साथ जो बातचीत संलग्‍न की है, उससे स्‍पष्‍ट होता है कि पैसे की सीधी मांग की गई थी। जिस तरह पोस्टिंग, विशेष अधिकार देने में पैसे का उपयोग होता है, इससे पुलिस बल में बड़े पैमाने पर बदनामी हो रही है। इतने गंभीर आरोप लगने के बाद गृहमंत्री अपने पद पर नहीं रह सकते। उन्‍हें तत्‍काल इस्‍तीफा दे देना चाहिए।

गृहमंत्री को हटाया नहीं तो आंदोलन: पाटिल

भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने कहा कि अब तो यह स्पष्ट है, ठाकरे सरकार भ्रष्ट है। पाटिल ने कहा है कि महाराष्ट्र की उद्धव सरकार ने अपने कारनामों से यह सिद्ध कर दिया है कि महाराष्ट्र की राजनीति का पूरी तरह अपराधीकरण हो गया है। उन्होंने कहा है कि रविवार की सुबह तक अगर मुख्यमंत्री ने गृहमंत्री अनिल देशमुख को सरकार से नहीं हटाया गया, तो भाजपा पूरे प्रदेश में आदोलन करेगी। उन्होंने कहा है कि पुलिस महकमे से जबरदस्ती वसूली करवाने वाले गृहमंत्री महाराष्ट्र को कतई बर्दाश्त नहीं है। पाटिल ने इस प्रकरण में महाराष्ट्र की महाविकास आघाड़ी सरकार को कठघरे में खड़ा करते हुए कहा कि महाराष्ट्र की ऐसी बदनामी करने वाली सरकार को सत्ता में बने रहने का कोई अधिकार नहीं है। अगर इस सरकार में थोड़ी सी भी शर्म बची हो तो पूरी सरकार को तुरंत इस्तीफा देकर महाराष्ट्र की साढ़े 11 करोड़ जनता से माफी मांगनी चाहिए।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget