बिहार में चिन्हित हुए 2.50 लाख वेंडर

hawkers

पटना

फुटपाथी दुकानदार वेंडर कहलाते हैं, उन्हें आर्थिक मदद पहुंचाकर आत्मनिर्भर बनाने के लिए पीएम स्वनिधि योजना के तहत बिहार में सर्वे किया गया है। नगर विकास विभाग द्वारा कराए गए सर्वे में बिहार के 2.5 लाख वेंडरों को चिन्हित किया गया है। नगर विकास विभाग द्वारा एप के जरिये सर्वे किया, जिसमें कई वेंडरों को रिजेक्ट कर दिया गया। सर्वे के मुताबिक पटना नगर निगम में सबसे ज्यादा वेंडर 55 हजार चिन्हित हुए, जबकि किशनगंज नगर पंचायत में सिर्फ 261 वेंडर ही चिन्हित किये गए। नगर विकास मंत्री तारकिशोर प्रसाद के मुताबिक, सर्वे में चिन्हित सभी जरूरतमंद वेंडरों को आर्थिक मदद पहुचाने में कोई असर नही छोड़ा जाएगा।

नगर विकास विभाग करेगा 10-10 हजार की मदद

सर्वे में चिन्हित किये गए सभी वेंडरों को नगर विकास विभाग आर्थिक मदद पहुचने के लिए 10-10 हजार री की मदद करेगा। अभी तक 9500 वेंडरों को 10-10 हजार रु की आर्थिक मदद पहुचाई जा चुकी है। इसमें पटना के सबसे ज्यादा 1300 वेंडरों को मदद पहुचाई गई। गया के 791 और मुजफ्फरपुर के 465 वेंडरों को 10-10 की सहायता दी जा चुकी है। कई जिलों में इस योजना के तहत मदद दी जा रही है पर 6 नगर निकायों में अभी तक योजना की शुरुआत भी नही हुई है।


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget