7500वें जन औषधि केंद्र को आज राष्ट्र को समर्पित करेंगे पीएम


नई दिल्ली

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को शिलांग के उत्तर पूर्वी इंदिरा गांधी क्षेत्रीय स्वास्थ्य और चिकित्सा संस्थान में 7,500वें जन औषधि केंद्र को राष्ट्र को समर्पित करेंगे। प्रधानमंत्री भारतीय जन औषधि परियोजना का उद्देश्य किफायती दरों पर गुणवत्तापूर्ण दवाइयां उपलब्ध कराना है। पीएमओ ने बताया कि इस परियोजना के तहत ऐसे केंद्रों की संख्या 7499 पहुंच गई है। यह केंद्र देश के सभी जिलों में हैं। पीएमओ ने बताया कि जन औषधि के बारे में अधिक से अधिक जागरूकता फैलाने के लिए एक मार्च से सात मार्च तक देश भर में जन औषधि सप्ताह मनाया जा रहा है। इस आयोजन का विषय है जन औषधि-सेवा भी रोजगार भी। बयान के अनुसार अब सप्ताह के आखिरी दिन को जन औषधि दिवस के रूप में मनाया जाएगा।

अगर आप भी अपने शहर में जन औषधि केन्द्र खोलना चाहते हैं तो फिर देर किस बात की। जन औषधि केन्द्र खोलने की प्रक्रिया इतनी आसान है कि इसे घर बैठे ऑनलाइन भी कर सकते हैं। इस योजना का पूरा नाम प्रधानमंत्री भारतीय जनऔषधि परियोजना है।   मोदी सरकार की प्रधानमंत्री भारतीय जनऔषधि परियोजना एक ऐसी योजना है, जिसके तहत न केवल रोजगार मिलाता है, बल्कि मरीजों को मार्केट रेट से काफी सस्ती दवाएं भी मिल जाती हैं। जन औषधि केन्द्र खोलने में ज्यादा खर्च भी नहीं आता है, जो भी खर्च आता है वह सरकार धीरे धीरे आपको वापस कर देती है। 


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget