विमान से उतारे गए 7 यात्री

कोरोना नियमों का उल्लंघन करना पड़ा भारी


नई दिल्ली

देश में कोरोना की नई लहर की बलवती होती आशंकाओं के बीच कोविड-19 प्रोटोकॉल को न मानने वाले यात्रियों को सफर पर जाने से रोक दिया गया।  भारतीय विमानन नियामक ने गुरुवार को जानकारी दी। DGCA ने बताया कि एलायंस एयर, एयर इंडिगो और एयर एशिया ने 7 यात्रियों को सफर पर जाने से रोक दिया क्योंकि वे कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन नहीं कर रहे थे। 

13 मार्च को DGCA ने गाइडलाइन जारी किया था जिसमें कहा था कि यात्रियों को सफर पर जाने से रोक दिया जाएगा यदि उड़ान के दौरान फ्लाइट में उचित तरीके से मास्क नहीं पहनेंगे या फिर कोविड प्रोटोकॉल का उल्लंघन करेंगे। DGCA ने एयरलाइनों को उन यात्रियों को विमान से उतारने के लिए कहा था जो बार-बार आग्रह के बाद भी मास्क 'ठीक तरह से नहीं पहनते हैं। ये घटनाएं ऐसे समय में सामने आई हैं जब बुधवार को मीडिया में ये खबरें आई थीं कि चार यात्रियों को मंगलवार को मास्क ठीक तरह से नहीं पहनने की वजह से एयर एशिया ने सुरक्षा एजेंसी को सौंप दिया था।

इससे पहले DGCA ने कहा कि फरवरी 2021 में लगभग 78.27 लाख घरेलू यात्रियों ने हवाई यात्रा की जो पिछले वर्ष की इसी अवधि की तुलना में 36.71 फीसद कम है। DGCA के अनुसार, जनवरी में देश के भीतर 77.34 लाख लोगों ने हवाई यात्रा की। DGCA द्वारा शेयर किए गए आंकड़ों के अनुसार, इंडिगो ने फरवरी में 42.38 लाख यात्रियों को लेकर हवाई यात्रा की जो कुल घरेलू बाजार का 54.2 फीसद हिस्सा है। स्पाइसजेट ने कुल 9.62 लाख यात्रियों के साथ उड़ाने भरीं, जो कुल बाजार का 12.3 फीसद हिस्सा है।  आंकड़ों में बताया गया है कि फरवरी महीने के दौरान, एयर इंडिया, गोएयर, विस्तारा और एयरएशिया इंडिया ने फरवरी में क्रमश: 9.16 लाख, 5.81 लाख, 5.4 लाख और 5.21 लाख यात्रियों को लेकर उड़ानें भरीं। 


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget