वझे केस से प्रदेश की गरिमा को पहुंची ठेस: पाटिल

chandrakant patil

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने पूरे सचिन वझे एपिसोड का दोष मुख्यमंत्री के कंधों पर डाल दिया है। मीडिया को दिए गए बयान में पाटिल ने कहा है कि यह अत्यंत शर्म का विषय है कि एक पुलिस अधिकारी, जिसे राज्य के मुख्यमंत्री पूरा संरक्षण दे रहे थे, उसे राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने गिरफ्तार कर लिया है। उन्होंने ठाकरे से सवाल किया है कि क्या अभी भी मुख्यमंत्री को लगता है कि एक भ्रष्ट अधिकारी के पक्ष में सार्वजनिक बयान जारी करके उन्होंने गलत नहीं किया? पाटिल का कहना है कि मुख्यमंत्री ने  एक भ्रष्ट अधिकारी के पक्ष में बयान देकर महाराष्ट्र की गरिमा को गहरी ठेस पहुंचाई है।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष पाटिल ने कहा है कि मैं नहीं समझ पा रहा हूं कि क्यों शिवसेना प्रमुख और मुख्यमंत्री को शिवसैनिक सचिन वझे को बचाने के लिए सामने आना पड़ा। उन्होंने कहा कि हमारी लोकतांत्रिक परंपरा में कोई भी राजनीतिक दल पहले संविधान के प्रति निष्ठा रखता है और फिर जनता के बीच समर्थन जुटाने जाता है, लेकिन यहां शिवसेना तथा मुख्यमंत्री ऐसे व्यक्ति का समर्थन करने में जुटे रहें, जो देश के सबसे बड़े उद्योगपति को नुकसान पहुंचाकर समाज की शांति भंग करना चाहता था। पाटिल ने इसकी कड़ी निंदा की है। उन्होंने यह भी कहा कि ऐसे बहुत से सवाल हैं, जिनके जवाब मनसुख हिरेन का परिवार और महाराष्ट्र की जनता तलाश रही है। क्यों वझे को इस हद तक जाकर समर्थन दिया गया? वो ऐसे कौन से मंत्री, विधायक और अन्य नेता थे, जिन्हें इस घटनाक्रम की जानकारी थी और फिर भी वे चुप रहे? वे कौन से पुलिस अधिकारी थे, जिन्हें सब पता था और फिर भी वे चुप रहे?

महाराष्ट्र भाजपा अध्यक्ष ने कहा है कि सभी को यह पता होना चाहिए कि यह सिर्फ एक मर्डर केस नहीं, बल्कि यह एक आतंकी हमले का केस है, जिसमें एक पुलिस अधिकारी देश की आर्थिक राजधानी में लिप्त पाया गया है। प्रदेश की जनता को महाराष्ट्र पुलिस, मुंबई पुलिस  और राष्ट्रीय जांच एजेंसी पर पूरा विश्वास है और इस घटना के पीछे छिपे कई बड़े चेहरे जल्द ही बेनकाब होंगे। पाटिल ने यह भी कहा कि कुछ पुलिस अधिकारियों को मर्डर केसों में दोषी लोगों को बचाने या आतंकी साजिशों को छिपाने की अपेक्षा अपराध और विशेषतः महिलाओं के खिलाफ हो रहे अपराधों को कम करने की कोशिश करनी चाहिए।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget