जल्द ही सेना के रिटायर्ड कर्मियों के लिए भी शुरू होगा टीकाकरण

vaccination

नई दिल्ली

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने सेवा अस्पतालों में वयोवृद्धों और सशस्त्र बलों के कर्मियों के आश्रितों के टीकाकरण के लिए मंजूरी दे दी है। सशस्त्र बलों की चिकित्सा सुविधाओं के पंजीकरण के पूरा होने के बाद कोविन प्लेटफॉर्म पर ये प्रक्रिया अगले सप्ताह शुरू होने की संभावना है। सेना की ओर से इस बात की जानकारी दी गई। बता दें देश में कोविड-19 टीकाकरण का पहला चरण 16 जनवरी से शुरू हुआ था जिसमें देश के स्वास्थ्यकर्मियों और प्रथम पंक्ति के कर्मचारियों का टीकाकरण शुरू किया गया था। वहीं इसका दूसरा चरण 1 मार्च से शुरू हुआ है। इसमें देश के 60 साल के ऊपर के लोगों और 45 वर्ष से ज्यादा आयु के गंभीर बीमारियों से पीड़ित लोगों का टीकाकरण किया जा रहा है।

बता दें देशव्यापी टीकाकरण अभियान के तहत पांच मार्च को लगभग 15 लाख लोगों को कोविड-19 का टीका दिया गया, जो अब तक एक दिन में सबसे अधिक संख्या में लगाया गया टीका है। इसके साथ ही अब तक देश भर में 1.94 करोड़ से अधिक लोगों को कोरोना वायरस का टीका लगाया जा चुका है। देशव्यापी कोविड-19 टीकाकरण अभियान 16 जनवरी से शुरू हुआ था जिसमें स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगाने की प्रक्रिया शुरू हुई। अग्रिम मोर्चे पर तैनात कर्मियों का टीकाकरण दो फरवरी से शुरू हुआ।

टीके की दूसरी खुराक 13 फरवरी से देना प्रारंभ किया गया जिसमें उन लोगों को टीका दिया गया जिन्होंने पहली खुराक 28 दिन पहले ली थी।

स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से बताया गया कि टीकाकरण अभियान के 49वें दिन (पांच मार्च) कुल 14,92,201 खुराक दी गई। मंत्रालय ने कहा कि इनमें से 11,99,848 लाभार्थियों (स्वास्थ्य कर्मी और अग्रिम मोर्चे पर तैनात कर्मी) को 18,333 सत्रों में टीके की पहली खुराक दी गई और 2,92,353 कर्मियों को टीके की दूसरी खुराक दी गई। इन लाभार्थियों (11,99,848) में 1,10,857 व्यक्ति 45 से 60 वर्ष की आयु के थे जो पहले से किसी बीमारी से पीड़ित थे। इसके साथ ही 60 वर्ष की आयु से अधिक के 7,61,355 लाभार्थी थे जिन्हें टीका दिया गया।

शनिवार सुबह सात बजे तक प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार, 3,57,478 सत्रों में टीके की 1,94,97,704 खुराक दी जा चुकी है। रिपोर्ट के अनुसार, इनमें से 69,15,661 स्वास्थ्य कर्मियों को पहली खुराक दी गई और 33,56,830 स्वास्थ्य कर्मियों को दूसरी खुराक दी गई।

इसके साथ ही अग्रिम मोर्चे पर तैनात 63,55,989 कर्मियों को पहली खुराक दी गई और 1,44,191 कर्मियों को दूसरी खुराक दी गई।

रिपोर्ट के अनुसार, पहले से किसी बीमारी से पीड़ित 45 साल से अधिक आयु के 3,46,758 लाभार्थियों और 60 वर्ष से अधिक आयु के 23,78,275 लाभार्थियों को टीके की पहली खुराक दी गई।


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget