मुख्यमंत्री मौन क्यों? फड़नवीस

राज्यपाल से मिला भाजपा का प्रतिनिधिमंडल    


मुंबई

पूर्व मुख्यमंत्री और विधानसभा में विपक्ष के नेता देवेंद्र फड़नवीस ने कहा कि वर्तमान में राज्य में जिस तरह की घटनाएं सामने आ रही हैं, वह चिंताजनक है, लेकिन इससे भी अधिक चिंताजनक बात मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की चुप्पी है। राज्य के प्रमुख होने के नाते मुख्यमंत्री को बोलना चाहिए, राज्य में घट रही घटनाओं पर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे क्यों नहीं बोल रहे हैं? महाविकास आघाड़ी सरकार के विपक्ष की मांगों पर ध्यान नहीं देने के विरोध में भाजपा नेताओं के एक प्रतिनिधिमंडल ने बुधवार को राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात की। इस मुलाकात के बाद फड़नवीस पत्रकारों से बात कर रहे थे।  

मुख्यमंत्री से रिपोर्ट मांगे राज्यपाल

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि जबरन वसूली का खुलासा हो गया, स्थानांतरण रैकेट भी है, राज्य के अधिकारियों को धमकी दी जा रही, यह सब चिंताजनक है, लेकिन मुख्यमंत्री चुप्पी साधे हुए हैं। हमने राज्यपाल से अनुरोध किया है कि वह सरकार से विस्तृत रिपोर्ट तलब करें, क्योंकि मुख्यमंत्री कोई कार्रवाई नहीं कर रहे हैं। फड़नवीस ने कहा कि राज्यपाल को राज्य सरकार से इस तरह की रिपोर्ट तलब करने का अधिकार है। 

उन्होंने कहा कि भाजपा नेता सुधीर मुनगंटीवार ने कम से कम 100 ऐसी घटनाओं का ब्यौरा संकलित किया है जो राज्य में गत एक साल में घटी हैं और जो संविधान के खिलाफ तथा गैरकानूनी हैं। अब हमारी उम्मीद राज्यपाल से ही है। पूर्व मुख्यमंत्री ने महाविकास आघाड़ी (एमवीए) सरकार के घटक दल कांग्रेस पर भी हमला बोला। उन्होंने कहा कि ऐसा लगता है कि कांग्रेस का अपना कोई रुख नहीं है ...या वह वसूली गिरोह में पक्षकार है। कांग्रेस को इस वसूली में से कितना हिस्सा मिलता है, उसे सार्वजनिक किया जाना चाहिए।  फड़नवीस ने यह हमला मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह द्वारा मुख्यमंत्री को लिखी गई चिट्ठी के बाद किया है । चिट्ठी में सिंह ने उन्होंने आरोप लगाया था कि राज्य के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने मुंबई पुलिस अफसरों के लिए हर महीने यहां के रेस्तरां एवं बार से 100 करोड़ रुपए की वसूली करने का लक्ष्य तय किया था। देशमुख राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के विधायक हैं।  


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget