पीएम मोदी की सोच से गोरखपुर में एम्स बनकर तैयार : योगी

गोरखपुर

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पूर्ववर्ती सरकारों की नकारात्म सोच से प्रेक्षागृह के लिए 4 दशकों का इंतजार करना पड़ा। अत्याधुनिक प्रेक्षागृह कलाकारों और संस्कृति प्रेमियों के लिए सौगात है। प्रेक्षागृह के रखरखाव और संचालन के लिए गोरखपुर विकास प्राधिकरण और संस्कृति विभाग को अतिरिक्त फंड का इंतजाम करना होगा। जिससे इसके संचालन और रखरखाव में किसी प्रकार की दिक्कत नहीं हो। कोशिश होनी चाहिए कि यह प्रेक्षागृह मनोरंजन के साथ ही ज्ञानवर्धन का भी केन्द्र बने। उन्होंने ऐलान किया कि अगले सप्ताह गोरखपुर के बहुप्रतिक्षित चिड़ियाघर का लोकार्पण करेंगे। 

मुख्यमंत्री ने ये बातें रविवार को सीएम सर्किट हाउस के निकट 52 करोड़ के लगात से नव निर्मित प्रेक्षागृह के लोकार्पण समारोह के दौरान कही। सीएम योगी ने कहा कि कलाकारों और संस्कृति विभाग के लोगों को देखना होगा कि प्रेक्षागृह मनोरंजन के साथ ही ज्ञानवर्धन का भी केन्द्र बने। प्रेक्षागृह के संघर्षों को याद करते हुए सीएम ने कहा कि सांस्कृतिक कार्यक्रमों के लिए मंच को लेकर पिछले चार दशक से संघर्ष कलाकारों द्वारा किया जा रहा था। बतौर सांसद 1998 से 2017 तक इसकी मांग मुझे मिलती थी। इसका मुद्दा संसद में भी उठाया। आज लोकार्पण कर आपार खुशी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री वीर बहादुर सिंह ने 1985 में प्रेक्षागृह का शिलान्यास किया था। लेकिन सरकारों की नकारात्मक सोच के चलते प्रेक्षागृह खंडहर हो गया बल्कि उस जमीन पर कब्जे की कोशिश भी हुई। हमनें उससे अच्छी जगह पर प्रेक्षागृह बनवाया है। रामगढ़झील क्षेत्र में अच्छी पार्किंग है।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget