भांडुप के कोरोना हॉस्पिटल में आग

ग्यारह मरीजों की मौत


मुंबई

मुंबई के भांडुप इलाके में ड्रीम मॉल की तीसरी मंजिल पर बने कोविड हॉस्पिटल में गुरुवार रात करीब 12 बजे आग लग गई। हादसे में 11 लोगों की मौत हो गई। हॉस्पिटल में भर्ती 70 मरीजों को सुरक्षित निकाल लिया गया। इन्हें दूसरे अस्पताल में शिफ्ट किया गया है। मृतकों के परिजनों को पांच-पांच लाख रुपए सहायता के तौर पर देने की घोषणा की गई है।

हालात का जायजा लेने पहुंचे मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि जो भी लोग इस घटना के लिए जिम्मेदार पाए जाएंगे, उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने बताया कि मरने वाले ज्यादातर मरीज वेंटिलेटर पर थे। उद्धव ने पीड़ित परिवारों के लिए संवेदना जाहिर कर माफी भी मांगी।

हॉस्पिटल का दावा- आग मॉल में लगी थी

मुंबई पुलिस कमिश्नर हेमंत नगराले ने कहा कि यह बहुत गंभीर घटना है। इसमें अस्पताल प्रबंधन की लापरवाही सामने आई है। हम उनके खिलाफ मामला दर्ज करेंगे। इस बीच, मनपा ने घटना की जांच के आदेश दिए हैं।

वहीं हॉस्पिटल मैनेजमेंट का कहना है कि आग मॉल के पहले फ्लोर पर लगी थी, न कि हॉस्पिटल में। इसका धुआं टॉप फ्लोर पर बने हॉस्पिटल तक पहुंच गया। यहां कोरोना से जान गंवाने वाले दो मरीजों के शव रखे थे। उन्हें भी निकाला गया था। 

कितनी मौत के बाद जागेगी सरकार: फड़नवीस

विधानसभा में विपक्ष के नेता देवेंद्र फड़नवीस ने भी सनराईज अस्पताल पहुंचकर स्थिति का मुआयना किया। इसके बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि यहां जो घटना हुई है, उसमें सरकार, मुंबई महापालिका की अक्षम्य लापरवाही और ढिलाई स्पष्ट रूप से दिखाई देती है। इस बारे में अधिक बोलना उचित नहीं होगा, क्योंकि लोग दुखी हैं, लेकिन मुझे यह बात समझ में नहीं आती कि कितने लोगों की मौत के बाद सरकार जागेगी? मेरा मानना है कि इस घटना की संपूर्ण जांच होनी चाहिए, कार्रवाई होनी चाहिए, ताकि आगे ऐसी घटना नहीं हो। इसके लिए मात्र घोषणा नहीं, सरकार की तरफ से प्रत्यक्ष कार्रवाई होनी चाहिए। 




Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget