बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद के साथ उतरेगी टीम इंडिया

भारत और इंग्लैंड के बीच दूसरा टी-20 मैच आज


अहमदाबाद

पहले मैच में अपने सितारा बल्लेबाजों और मैच जिताऊ खिलाड़ियों की नाकामी से स्तब्ध भारतीय टीम आज (रविवार) को इंग्लैंड के खिलाफ दूसरे टी-20 मैच में बल्ले से बेहतर प्रदर्शन के इरादे से उतरेगी। यह मैच शाम सात बजे से खेला जाएगा। तीन महीने में शुक्रवार को खेला गया सीमित ओवरों का भारत  का यह पहला मैच था, लेकिन केएल राहुल, हार्दिक पंड्या और युजवेंद्र चहल जैसे ‘मैच विनर्स’ लय में नहीं दिखे। इंग्लैंड ने बल्लेबाजी, गेंदबाजी और क्षेत्ररक्षण तीनों में भारत को उन्नीस साबित कर दिया। एक हार से हालांकि भारतीय टीम की आलोचना नहीं की जा सकती, क्योंकि हार के बाद शानदार वापसी करने में विराट कोहली की टीम माहिर है। कोहली ने हालांकि मैच से पहले ‘एक्स फैक्टर’ (मैच जिताने वाले खिलाड़ी) की बात की थी, लिहाजा ऋषभ पंत और हार्दिक पंड्या से उन्हें बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद होगी। दोनों गैर जिम्मेदाराना तरीके से अपने विकेट गंवा बैठे थे। श्रेयस अय्यर को छोड़कर कोई भारतीय बल्लेबाज जोफ्रा आर्चर और मार्क वुड की अगुवाई में इंग्लैंड के गेंदबाजी आक्रमण का सामना नहीं कर सका। पंड्या और पंत विकेट की रफ्तार को भांप नहीं सके और गेंद को मिल रही अतिरिक्त उछाल का सामना नहीं कर पाये। कोहली ने मैच के बाद कहा था, ‘इस विकेट पर मनचाहे शॉट नहीं खेल सके। श्रेयस की पारी इस बात का उदाहरण थी कि क्रीज की गहराई का इस्तेमाल कैसे करना है और उछाल से कैसे निपटना है। बाकी बल्लेबाज ऐसा नहीं कर सके।’ उन्होंने कहा, ‘यह खराब बल्लेबाजी थी और हमें इसका खामियाजा भुगतना पड़ा।’ अय्यर के अच्छे प्रदर्शन के बाद सूर्यकुमार यादव को अपनी बारी के लिये इंतजार करना पड़ सकता है और मध्यक्रम में एक ही जगह खाली है। वैसे कोहली अंतिम एकादश में बदलाव के लिये मशहूर हैं। टीम के सबसे अनुभवी खिलाड़ी शिखर धवन लगातार खराब फॉर्म के बावजूद खेले और 12 गेंद में चार रन ही बना सके। रोहित शर्मा को लगातार छह टेस्ट खेलने के बाद आराम दिया गया, जो ऑस्ट्रेलिया में 14 दिन कड़े पृथकवास में भी रहे थे। शीर्षक्रम पर हालांकि रोहित का खेलना बेहद जरूरी है। भले ही इस बारे में कोई बात नहीं करे, लेकिन कोहली लंबे समय से 

टी-20 क्रिकेट में बड़ी पारी नहीं खेल सके हैं। गेंदबाजों के पास पहले मैच में कुछ था ही नहीं, क्योंकि रन बहुत कम बने थे। युजवेंद्र चहल की जगह राहुल तेवतिया को उतारा जा सकता है, जो आक्रामक बल्लेबाजी में भी माहिर हैं। इयोन मोर्गन के पास ऐसे 12 खिलाड़ी हैं, जो आईपीएल खेलते हैं। उनकी टीम अक्टूबर में होने वाले टी-20 विश्व कप की प्रबल दावेदार है और उन्होंने अपेक्षा के अनुरूप ही प्रदर्शन किया।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget