धूप के हेल्थ बेनेफिट्स

sunbath

हमारी बॉडी को पर्याप्त मात्रा में विटामिन डी की ज़रूरत होती है. इसका एक बड़ा सोर्स है धूप. अगर हम नियमित रूप से 10 मिनट सुबह की नर्म धूप में बैठते हैं तो इसके कई हेल्थ बेनिफिट्स होते हैं. गांव में तो ठीक है, पर शहर के घरों में धूप बहुत कम ही नसीब होती है, लेकिन हेल्दी रहने के लिए धूप बेहद ज़रूरी है. इसलिए बालकनी, छत या बरामदे में ही सही, जहां भी मिले थोड़ी देर धूप जरूर सेंकें.

  •  धूप से हड्डियां मज़बूत होती हैं. शरीर के लिए आवश्यक 90 फीसदी विटामिन डी हमें धूप से मिल सकता है, जो हड्डियों को हेल्दी रखने के लिए ज़रूरी है. इससे ऑस्टियोपोरोसिस होने के चांसेस भी कम हो जाते हैं.
  •  धूप से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढती है, जो सदीर्र्-ज़ुकाम, खांसी-बुखार जैसी बीमारियों से हमें बचाता है.
  •  धूप से मेटाबोलिज़म में सुधार आता है. जिससे वज़न घटाने में सहायता मिलती है. एक शोध से ये बात भी सामने आई है कि सूर्यप्रकाश और बीएमआई के बीच गहरा संबंध है. वज़न कम करने में ये भी सहायक होता है.
  •  धूप सेंकने से शरीर में मेलाटोनिन नामक हार्मोन बनने लगता है, जिससे अनिद्रा की समस्या से छुटकारा मिलता है और अच्छी नींद आती है.
  •  धूप में थोड़ी देर बैठने से शरीर बैक्टीरिया फ्री तो होता ही है, साथ ही स्किन ग्लो करने लगती है. इससे पिंपल्स, एक्ने और स्किन इंफेक्शन जैसी समस्याएं भी दूर होती हैं.
  •  नियमित रूप से थोड़ी देर धूप में बैठने से कोलेस्ट्रॉल कम होता है. ब्लडप्रेशर कंट्रोल में रहता है और हार्ट डिसीज़ का रिस्क भी कम हो जाता है.
  •  धूप ब्लड सर्कुलेशन को बेहतर बनाता है.
  •  धूप सेंकने से रक्त में रेड ब्लड सेल्स यानि लाल रक्त कण और व्हाइट ब्लड सेल्स यानि सफेद कण की संख्या बढती है.
  •  इससे पाचन तंत्र ठीक रहता है. कब्ज़ की समस्या दूर होती है.
  •  सूर्य से निकलने वाली अल्ट्रावायलेट किरणें हमारे इम्यून सिस्टम की हाइपर एक्टिविटी को कम करती हैं, जिससे सोरायसिस जैसी स्किन प्रॉब्लम से बचाव होता है.
  •  धूप सेंकने से दिमाग स्वस्थ रहता है.
  •  सूर्य की रोशनी से सभी तरह के इंफेक्शन, फंगल इंफेक्शन और कई अन्य बीमारियां भी ठीक हो जाती हैं.

 विटामिन-डी की कमी पूरी करने का सबसे आसान तरीका है, सुबह 10 बजे से पहले सूरज की रोशनी में बैठें. रोजाना 15 से 20 मिनट धूप सेंककर विटामिन-डी की कमी पूरी की जा सकती है. रिसर्च के अनुसार विटामिन डी कोरोना से लड़ने में भी मदद करता है. विटामिन-डी कोरोना मरीजों में वायरस को गंभीर होने से रोकता है और मौत का खतरा भी घटाता है.

कितनी धूप ज़रूरी?

हफ्ते में तीन दिन सुबह-सुबह 20-30 मिनट धूप सेंकना पर्याप्त है. इससे शरीर के लिए आवश्यक विटामिन डी की पूर्ति हो जाती है.

इन बातों का ध्यान रखें

  • तेज़ धूप से बचें. इससे निकलनेवाली अल्ट्रा वायलेट किरणें आपकी स्किन को नुकसान पहुंचा सकती हैं. ये स्किन कैंसर का कारण भी बन सकती हैं.
  • पसीना आने के बाद धूप में नहीं बैठना चाहिए.
  • दोपहर बाद धूप में बैठने से ख़ास फायदा नहीं होता, हां ये नुकसान ज़रूर पहुंचा सकती हैं. इसलिए दोपहर के बाद धूप में जाने से बचें.

80 फीसदी लोगों में है विटामिन-डी की कमी

हाल में एक रिसर्च में यह तथ्य सामने आया कि भारत में करीब 80 फीसदी लोगों में विटामिन-डी की कमी है. चिंता की बात यह है कि 90 फीसदी बच्चे भी विटामिन-डी की कमी से कई हेल्थ प्रॉब्लम्स झेल रहे हैं. अकेले दिल्ली में 90 से 97 फीसदी स्कूली बच्चों में (6-17 वर्ष की आयु के) विटामिन-डी की कमी पाई गई है, जबकि भारत दुनिया के ऐसे देशों में शामिल है, जहां सूर्य की पर्याप्त रोशनी आती है.


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget