किसान नेता रोकेंगे भाजपा की राह


नई दिल्ली

अगले महीने से पांच राज्यों में चुनाव शुरू होने वाले हैं। भाजपा इन राज्यों में मजबूती से चुनाव लड़ रही। केरल और पुडुचेरी में जहां भाजपा पैर जमाना चाहती है वहीं असम और पं बंगाल में भगवा पार्टी ने विरोधियों की नींद उड़ा रखी है। इसी बीच संयुक्त किसान मोर्चा ने ऐलान किया है कि वो पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव में भाजपा को वोट न देने की अपील करेंगे। योगेंद्र यादव ने कहा है कि संयुक्त किसान मोर्चा की आज की बैठक में हमने 15 मार्च तक कार्यक्रमों को अंतिम रूप दे दिया है। 6 मार्च को जब विरोध प्रदर्शन के 100 दिन पूरे होंगे तो तो किसान सुबह 11 बजे से शाम 4 बजे के बीच कुंडली-मानेसर-पलवल एक्सप्रेसवे को अलग-अलग स्थानों पर रोकेंगे। किसान मोर्चा ने आगे कहा कि 8 मार्च को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर सभी प्रदर्शन स्थलों पर महिला प्रदर्शनकारियों को सामने लाया लाएंगे 5 मार्च से कर्नाटक में 'एमएसपी दिलाओ' आंदोलन शुरू किया जाएगा, जिसमें पीएम से फसलों के लिए एमएसपी सुनिश्चित करने को कहा जाएगा। 

भारतीय किसान यूनियन के बलबीर एस राजेवाल ने आगे कहा कि हम पश्चिम बंगाल और केरल में चुनावों के लिए अलग-अलग टीमों को भेजेंगे। हम किसी भी पार्टी का समर्थन नहीं करेंगे लेकिन लोगों से अपील करेंगे कि वे उन उम्मीदवारों को वोट दें जो भाजपा को हरा सकते हैं। हम लोगों को किसानों के प्रति मोदी सरकार के रवैये के बारे में बताएंगे।

गांव के प्रवेश पर लगाएंगे रोक

स्वराज इंडिया के संस्थापक योगेंद्र यादव ने कहा कि 10 ट्रेड संगठनों के साथ हमारी मीटिंग हुई है। सरकार सार्वजनिक क्षेत्रों का जो निजीकरण कर रही है उसके विरोध में 15 मार्च को पूरे देश के मज़दूर और कर्मचारी सड़क पर उतरेंगे और रेलवे स्टेशनों के बाहर जाकर धरना प्रदर्शन करेंगे। उन्होंने कहा कि सरकार की तरफ से इस आंदोलन को समाप्त करने का प्रयास किया गया था। केंद्र सरकार में हरियाणा के जो तीन केंद्रीय मंत्री हैं, उन तीन केंद्रीय मंत्रियों का उनके गांव में प्रवेश पर रोक लगा दी जाएगी।


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget