दीदी अहंकार में डूबी, परिवर्तन अटल : मोदी

Modi

नई दिल्ली

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव प्रचार और राज्य में दिख रहे रुझानों में प्रधानमंत्री मोदी और ममता बनर्जी के बीच सीधी टक्कर हो रही है। दोनों एक दूसरे को निशाना बनाकर अपने शब्दबाण चलाकर मतदाताओं को आकर्षित कर रहे हैं। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को पश्चिम बंगाल के कांथी में चुनाव प्रचार करते हुए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के अहंकार को मुद्दा बनाया। ममता पर सीधा हमला करते हुए मोदी ने कहा कि दीदी किसी की नहीं सुनतीं, सुन नहीं सकतीं देख तो लें। अपने इस भाषण से पहले मंच पर मोदी ने एक कार्यकर्ता के पांव भी छुए।

प्रधानमंत्री ने कहा कि हर क्रांति के समय मेदिनीपुर अग्रणी रहा है। देश आजादी के 75 साल पूरे होने पर आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है। आजादी में दिए गए हर योगदान को भावी पीढ़ी तक पहुंचाना भाजपा सरकार की प्राथमिकता है। आज जो युवा 25 साल की उम्र के हैं और वो युवा इस चुनाव में फर्स्ट टाइम वोटर हैं उनके लिए भी यह समय बहुत अहम है।

मोदी ने कहा कि सोनार बांग्ला का शंखनाद होता हुआ यहां हर कोई सुन रहा है। बंगाल के कोने-कोने से एक ही आवाज आ रही है। बंगाल के हर घर से एक ही आवाज आ रही है। बंगाल के हर मुख से एक ही आवाज आ रही है। दो मोई आछे, दीदी जाछे। दीदी जॉछे, ऑशोल परिवर्तन आछे। प्रधानमंत्री ने कहा कि माताएं-बहनें टीएमसी को इस चुनाव में सजा देने के लिए बहुत बड़ी संख्या में बाहर निकल चुकी हैं। दीदी के राज में यहां हिंसा और बम धमाकों की खबरें आती हैं। बंगाल को शांति चाहिए, स्थिरता चाहिए, बम-बंदूकों और हिंसा से मुक्ति चाहिए और यह काम भाजपा की सरकार ही कर सकती है।

तृणमूल के पाप का घड़ा भर चुका

ओ दीदी...। दीदी आज पश्चिम बंगाल पूछ रहा है कि अंफान की राहत किसने लूटी? गरीब का चावल किसने लूटा? अंफान के सताए लोग आज भी टूटी हुई छत के नीचे जीने को मजबूर क्यों हैं? जब जरूरत होती है तब तो दीदी दिखती नहीं है, लेकिन जब चुनाव आता है तो सरकार द्वारे-द्वारे का नारा लगाती हैं। यही इनका खेला है। पश्चिम बंगाल...यहां का बच्चा-बच्चा आपका खेला समझ गया है और इसलिए दो मई को पश्चिम बंगाल दीदी को द्वार दिखाएगा। 


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget