एचएपी ने शुरू किया महाराष्ट्र में अपनी नई परियोजना में व्यावसायिक उत्पादन

hatsun

मुंबई

‘आरोक्या’, ‘हैट्सन’, ‘अरुण आइस क्रीम’ और ‘इबाको’ जैसे ब्रांडों के तहत भारत की प्रमुख निजी क्षेत्र की डेयरी कंपनी हैट्सन एग्रो प्रोडक्ट्स लिमिटेड (एचएपी) ने अपने महाराष्ट्र के सोलापुर में स्थापित नयी ग्रीनफील्ड डेयरी प्रसंस्करण परियोजना में व्यावसायिक उत्पादन शुरू किया है। यह एचएपी की 19 वीं विनिर्माण परियोजना है जिसमें तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और कर्नाटक में परियोजनाओं का एक नेटवर्क है। पूरी तरह से स्वचालित डेयरी संयंत्र, 130 करोड़ रुपये की लागत से महाराष्ट्र के सोलापुर जिले में देश की सबसे तकनीकी रूप से उन्नत परियोजना 72 एकड़ भूमि पर स्थापित की गई है। संयंत्र नवीनतम डिजाइन का पालन करता है और इसमें जर्मनी से आयातित विशेष उपकरण (एलएलपीडी) है जो प्रति दिन 600,000 लीटर दूध संसाधित करता है। परियोजना का डिजाइन कर्मचारी सुरक्षा, उत्पाद स्वच्छता और उत्कृष्ट गुणवत्ता के उत्पाद बनाने पर केंद्रित है। एचएपी ने वर्षा जल को संग्रहित करने के लिए परियोजना परिसर में 1.25 करोड़ लीटर की क्षमता वाले तालाब का निर्माण किया है। यह इस क्षेत्र का पहला स्थान है, जहाँ बचाए गए पानी को पूरी तरह संसाधित किया जा सकता है और उस पानी को कई उद्देश्यों के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। हैट्सन एग्रो प्रोडक्ट्स लिमिटेड नई परियोजना में दूध, दही, छाछ, लस्सी, दही, योगर्ट और श्रीखंड का उत्पादन करेगी।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget