जहां बजनी थी शहनाई अब है मातम

बेगूसराय 

हथियारबंद डकैतों ने एक रिटायर्ड टीचर के परिजनों को बंधक बनाकर घर से दो बेटियों की शादी के लिए खरीदे गए जेवरात और नए सामानों के साथ 30 लाख रुपए की संपत्ति लूट ली। परिजनों ने इसका विरोध किया तो उन्हें पिस्टल की बट, बैट और लात-घूंसों से पीटकर घायल कर दिया। हद यह कि बीहट थाना क्षेत्र के वार्ड नंबर-30 इब्राहिमपुर के जिस समय एक तरफ पुलिस जिप्सी सायरन बजाती हुई पहुंची और उसी समय डकैत सामान समेटकर दूसरे रास्ते से निकल गए। इस परिवार की दो बेटियों की शादी अगले महीने होने वाली है और लूटे गए ज्यादातर सामान शुक्रवार को वर पक्ष को दिए जाने थे। डकैतों की दो बाइक पुलिस ने बरामद की है। गुरुवार देर रात 10-12 की संख्या में हथियारबंद अपराधी उर्मिला देवी के घर के पीछे से रास्ते से घुस आए। उन्होंने सबसे पहले CCTV का तार तोड़ा और फायरिंग शुरू कर दी। 

घरवाले अचानक हुई फायरिंग से दहशत में आ गए। इधर, डकैतों ने परिजनों को बंधक बना लिया और सामान लूटने लगे। इस दौरान 4 लाख 73 हजार रुपए नगद के साथ आलमीरा में रखे 400 ग्राम से अधिक की ज्वेलरी लूट ली। इसके बाद घर की महिलाओं का सारा गहना भी खुलवा लिया। चूंकि घर में दो-दो शादियां थीं, इसलिए फ्रिज, सोफा, पलंग सहित कई सामान खरीदे जा चुके थे। डकैतों ने एक-एक कर सभी सामान समेट लिया। इसके लिए उन्होंने एक गाड़ी भी फोन करके मंगवाई। घर की ही एक सदस्य स्वाति ने इस दौरान एक कमरे में घुसकर गुजरात में रह रहे अपने रिश्तेदार को फोन कर दिया, जिसके बाद पुलिस पहुंच गई। सायरन की आवाज सुनकर डकैत भागने लगे। 

पुलिस की गाड़ी घर के आगे लगी, तब तक डकैत भाग निकले। आननफानन में अपनी दो बाइक छोड़ते गए। डकैती के दौरान रामाशीष सिंह, उर्मिला देवी, मनीष कुमार, रीना देवी, बबलू कुमार, शुभम राज एवं गोलू कुमार को डकैतों ने पीटकर घायल कर दिया।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget