'आपातकाल लगाना गलती थी'


नई दिल्ली

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और वायनाड से सांसद राहुल गांधी ने मंगलवार को दादी इंदिरा गांधी द्वारा लगाई गई इमरजेंसी (आपातकाल) को गलत बताया। कांग्रेस नेता ने कहा कि इमरजेंसी गलत थी, लेकिन जो अभी हो रहा है और जो उस समय हो रहा था, दोनों में काफी बड़ा फर्क है। कांग्रेस पार्टी ने कभी भी भारत के संवैधानिक ढांचे को हथियाने की कोशिश नहीं की। पार्टी का डिजाइन इसकी अनुमति नहीं देता है। अगर हम चाहें भी तो ऐसा नहीं कर सकते हैं।

संगठन चुनाव को लेकर पार्टी के ही 23 नेताओं की ओर से उठाए जा रहे सवालों के बीच राहुल गांधी ने पार्टी में लोकतंत्र को लेकर जवाब दिया है। उन्होंने कहा कि वह पार्टी के भीतर लोकतांत्रिक चुनाव को महत्वपूर्ण मानते हैं। लेकिन साथ ही यह भी कहा कि उन्हें हैरानी होती है कि भाजपा, बसपा या समाजवादी पार्टी से नहीं पूछा जाता कि उनकी पार्टी में आंतरिक लोकतंत्र नहीं है।

राहुल गांधी ने एक अमेरिका के कॉर्नेल यूनिवर्सिटी के एक वर्चुअल कार्यक्रम में हिस्सा लेते हुए पार्टी में लोकतंत्र के मुद्द पर जवाब दिया। राहुल ने कहा कि मैं पहला व्यक्ति हूं जिसने युवा संगठन और स्टूडेंट संगठन में चुनाव कराए, जिसके लिए प्रेस में गंभीर पिटाई हुई। मुझे चुनाव करने के लिए सचमुच क्रूस पर चढ़ाया गया था। मुझ पर मेरे ही पार्टी के लोगों ने हमला किया।


राहुल ने आगे कहा कि मैं पहला व्यक्ति हूं जो कहता है कि पार्टी के भीतर लोकतांत्रिक चुनाव बहुत अहम है, लेकिन मेरे लिए यह दिलचस्प है कि यह सवाल किसी और पार्टी के बारे में नहीं पूछा जाता। कोई नहीं पूछता कि क्यों भाजपा, बसपा और समाजवादी पार्टी में आंतरिक लोकतंत्र नहीं है।

राहुल ने कांग्रेस में लोकतंत्रिक मूल्यों की अहमियत का जिक्र करते हुए कहा, लेकिन वे कांग्रेस के बारे में सवाल पूछते हैं, क्योंकि इसकी एक वजह है। हम एक वैचारिक पार्टी हैं और हमारी विचारधारा संविधान की विचारधारा है। इसलिए यह अधिक अहम है कि हम लोकतांत्रिक रहें।''


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget