जलगांव महिला छात्रावास के संबंध में लगाये गये आरोप गलत: सरकार

jalgaon hostel

मुंबई

महाराष्ट्र सरकार ने बृहस्पतिवार को कहा कि इन आरोपों में कोई सच्चाई नहीं है कि जलगांव के एक छात्रावास में पुरूष पुलिसकर्मियों ने महिलाओं को निर्वस्त्र करवा दिया और नृत्य करवाया। राज्य के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने विधानसभा में कहा कि वरिष्ठ महिला पुलिस अधिकारियों की एक टीम इस कथित घटना की जांच के लिए छात्रावास गयी थी। उन्होंने कहा, ‘‘ छात्रावास में 17 महिलाएं हैं। 41 गवाहों से पूछताछ की गयी । पाया गया कि आरोपों में कोई सच्चाई नहीं है। कोई पुरूष अधिकारी छात्रावास में मौजूद नहीं था। यह महिला छात्रावास है और पुरूष पुलिसकर्मियों को वहां जाने की इजाजत नहीं है। ’’ विपक्षी सदस्यों ने बुधवार को विधानसभा में यह मुद्दा उठाया था।

 मीडिया में खबर आयी थी कि कुछ महिलाओं ने इस कथित घटना की शिकायत की थी।  देशमुख ने बुधवार को कहा था कि इस मामले की जांच के लिए चार सदस्यीय समिति बनायी है। बृहस्पतिवार को उन्होंने कहा कि महिला शिकायतकर्ता की मानसिक स्थिति अस्थिर है।  मंत्री ने कहा, ‘‘ उसके पति और परिवार के अन्य सदस्यों ने उसकी मानसिक दशा के बारे में शिकायत की है। छात्रावास में रहने वालों के लिए 20 फरवरी को एक मनोरंजन कार्यक्रम आयोजित किया गया था जहां पुरूष पुलिस अधिकारी नहीं थे। उन्होंने कहा, ‘‘ नृत्य के एक दौरान एक महिला ने स्कर्ट हटा दिया क्योंकि उसे असहज लग रहा था।’’


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget