बीमारू राज्य की श्रेणी से बाहर आया यूपी

सीएम योगी ने गिनाईं अपनी चार सालों की उपलब्धियां


लखनऊ

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी जी के नेतृत्‍व और मार्गदर्शन में प्रदेश सरकार को कोरोना प्रबंधन में उल्‍लेखनीय सफलता मिली है। प्रदेश सराकर ने कोरोना संकट काल में दृढ़ इच्‍छा शक्ति, परिपक्‍वता, कौशल, संवेदनशीलता व सामूहिक भावना के साथ कोरोना संक्रमण को नियंत्रित किया। जिसकी सराहना प्रधानमंत्री व विश्‍व स्‍वास्‍थ संगठन ने भी की है। मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने ये बातें शुक्रवार को सरकार के चार साल का कार्यकाल पूरा होने पर कहीं। उन्‍होंने कहा पहले उत्तर प्रदेश बीमारू राज्य की श्रेणी में था, लेकिन इन चार सालों में वह इस श्रेणी से बाहर आ गया है। सीएम ने आगे कहा कि यूपी कि मार्च 2020 में कोविड की 60 प्रतिदिन जांचों से शुरूआत करते हुए उत्‍तर प्रदेश प्रतिदिन 1.75 लाख कोरोना जांच करने वाला पहला राज्‍य बना। सार्वजनिक और निजी क्षेत्र में कोविड जांच के लिए 234 प्रयोगशालाएं स्‍थापित की गईं। लेवल-1, लेवल-2, लेवल-3 के 771 के डेडिकेटेड कोविड अस्‍पताल क्रियाशील किए गए। प्रदेश में सर्वाधिक 1.75 लाख कोविड बेड उपलब्‍ध कराए गए। बता दें कि कोरोना काल के दौरान प्रदेश के श्रमिकों व कामगारों, ठेला, खोमचा, रेहड़ी लगाने वाले या दैनिक कार्य करने वाले सभी लोगों के भरण-पोषण की व्‍यवस्‍था को सुनिश्‍चित किया। इसके साथ ही निर्माण श्रमिकों को भी भरण-पोषण भत्ता देने का कार्य किया गया। कोरोना महामारी के दौरान सरकार ने अप्रैल 2020 से जून 2020 तक कुल 12.15 लाख नए राशन कार्ड जारी किए। इस दौरान ही आठ लाख मैट्रिक टन खाद्यान मजदूरों को निशुल्‍क वितरित किया। कोरोना के दौरान सरकार की ओर से गरीबों व मजदूरों को राहत पैकेज दिया गया। प्रदेश की सभी चीनी मिलो को चालू रखते हुए एक ओर गन्‍ना किसानों से गन्‍ना क्रय कर उनकी मदद की, वहीं इन चीनी मिलो को सैनिटाइजर के उत्‍पादन में भी लगाया।

उन्‍होंने कहा कि सरकार ने प्रत्‍येक जनपद में आईसीयू की व्‍यवस्‍था कर कोरोना प्रबंध में सफलता हासिल की है। सभी कोविड-19 रोगियों व उनके संपर्क को खोजने के लिए 70 हजार से अधिक अग्रिम पंक्ति के कार्यकर्ताओं की तैनाती की। कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए प्रदेश में वृहद स्‍तर पर तेजी से टीकाकरण का कार्य किया जा रहा है। 

यूपी देश का पहला ऐसा राज्‍य है, जहां एक दिन में तीन लाख से अधिक स्‍वास्‍थ्‍यकर्मियों का टीकाकरण किया गया। जहां एक ओर स्‍वास्‍थ्‍य सुविधाओं में अभूतपूर्व वृद्धि‍ हुई, जिसमें मुख्‍यत: टेस्‍ट क्षमता, बेड क्षमता, वेंटिलेटर की संख्‍या को बढ़ाया गया वहीं विकास के विभिन्‍न कार्यक्रमों में भी तेजी लाई गई। प्रदेश सरकार ने सर्वाधिक कोविड जांच और टीकाकरण कराकर एक नया कीर्तिमान स्‍थापित किया है। प्रदेश में तीन करोड़ से अधिक कोविड की जांचें और तीस लाख से अधिक टीकाकरण किए जा चुकें हैं। 


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget