एचडीएफसी एर्गो की बिजनेस किस्त सुरक्षा योजना


नई दिल्ली

एचडीएफसी एर्गो जनरल इंश्योरेंस कंपनी, भारत की प्रमुख गैर-जीवन बीमा कंपनी, ने किसी विपदा या प्राकृतिक आपदा के दौरान एमएफआइज, वित्तीय संस्थानों और बैंकों को होने वाले नुकसान से बचाने के लिए बिजनेस किस्त सुरक्षा के लांच की घोषणा की है।

जलवायु परिवर्तन की बढ़ती चिंताओं और पर्यावरण पर इसके प्रभाव को देखते हुए, बिजनेस किस्त सुरक्षा योजना का मकसद वित्तीय संस्थानों बैलेंस शीट पर पड़ने वाले प्रभाव को सीमित करना है। यह असर बाढ़, भूकंप औऱ चक्रवात आदि सूचीबद्ध आपदाओं के परिणामस्वरूप कर्जदारों द्वारा ईएमआई का भुगतान नहीं करने पर सामने आता है। स्कीम को लांच करते हुए एचडीएफसी एर्गो जनरल इंश्योरेंस कंपनी के चीफ एक्चुअरी एवं चीफ अंडरराइटिंग ऑफिसर अनुराग रस्तोगी ने कहा, “पिछले कुछ सालों के दौरान हमने बाढ़ और चक्रवाती तूफानों जैसी प्राकृतिक आपदाओं की संख्या में तेजी देखी है, जिसकी वजह से ऐसे इलाकों में रहने वाले लोगों की आजीविका पर असर होता है। इसके अतिरिक्त ऐसी आपदाओं की वजह से इन इलाकों के कर्ज कारोबार पर भी बुरा असर पड़ता है। बिजनेस किस्त सुरक्षा का लक्ष्य इन जलवायु संबंधी बदलावों के विरुद्ध बीमा कराकर इन चिंताओं को संबोधित करना है। साथ ही प्राकृतिक आपदा के कारण बढ़ते एनपीए के प्रभाव से वित्तीय संस्थानों को सुरक्षित रखना है।” बिजनेस किस्त को एक उत्पाद के तौर पर व्यक्तिगत एमएफआई या वित्तीय संस्थान की जरूरतों के अनुसार कस्टमाइज किया जा सकता है। 

कर्जदार, एमएफआइ या किसी वित्तीय संस्थान की भौगोलिक उपस्थिति के आधार पर इस उत्‍पाद को विशिष्‍ट रूप से निर्मित किया जा सकता है। यह उस लोकेशन की संभावित जलवायु स्थितियों पर आधारित होता है। इसके अतिरिक्त, एमएफआइज या वित्तीय संस्थानों के पास ईएमआइ की संख्या चुनने का भी विकल्‍प होता है, जिसमें लेंडर्स के एक्सपोजर को देखते हुए बीमा कवरेज की जरूरत पड़ती है।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget