भुजबल ने की सहयोग की अपील


नाशिक

जिले में यदि कोरोना के मामले ऐसे ही बढ़ते रहें तो सरकार को मजबूरन लॉकडाउन लगाना पड़ेगा। लॉकडाउन से बचने के लिए सभी को कोरोना नियमों का पालन करना होगा। सभी के सहयोग से ही हम इस महामारी से लड़ने में कामयाब होंगे और परिस्थिति में सुधार होगा। ऐसा नाशिक के पालक मंत्री छगन भुजबल ने कहा।

जिलाधिकारी कार्यालय में गुरुवार को कोरोना वायरस की स्थिति का जायजा लेने के लिए बैठक का आयोजन किया गया था। इस बैठक में कृषिमंत्री दादा भुसे, विभागीय आयुक्त राधाकृष्ण गमे, जिलाधिकारी सूरज मांढरे, मनपा आयुक्त कैलास जाधव, पुलिस आयुक्त दीपक पांडेय, जिप की मुख्य कार्यकारी अधिकारी लिना बनसोड, अपर पुलिस अधीक्षक शर्मिष्ठा वालावलकर, जिला शल्य चिकित्सक डॉ. रत्ना रावखंडे, मनपा अतिरिक्त आयुक्त डॉ. प्रवीण आष्टीकर, जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. कपिल आहेर, मनपा स्वास्थ अधिकारी डॉ. बापूसाहेब नागरगोजे, निवासी जिला शल्य चिकित्सक डॉ. प्रशांत खैरे, डॉ. अनंत पवार, निवासी उपजिलाधिकारी भागवत डोईफोडे आदि के साथ अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे। इस बैठक के बाद पत्रकारों से चर्चा करते हुए छगन भुजबल ने कहा कि नाशिक जिले की परिस्थिति गंभीर होती जा रही है, लेकिन पिछले तीन दिनों से यह प्रमाण कम हो कम हो रहा है। मालेगांव नाशिक जैसे शहर में यह प्रमाण 80 प्रतिशत तक है, जिले के छोटे शहरों में और ग्रामीण क्षेत्रों में यह प्रमाण 10 प्रतिशत होने की बात कही। उन्होंने कहा कि इस बारे में प्रशासन गंभीरता से कदम उठा रही है, लेकिन जिले के नागरिकों ने सहयोग नहीं दिया तो प्रशासन को मजबूरन कड़े कदम उठाने पड़ेंगे। इसलिए इसलिए सभी को कोरोना महामारी को हराने के लिए प्रशासन का सहयोग करना चाहिए।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget