खाना खाते समय याद रखें ये बातें

Thali

खाना कब खाया जाए

जब पहले खाया हुआ खाना अच्छी तरह पच जाए, तेज भूख लगे और शरीर में हल्कापन महसूस हो, तभी कुछ खाना चाहिए. वर्ना पाचन तंत्र गड़बड़ा सकता है क्योंकि पहले का जो भोजन ठीक से पच नहीं पाया है, वो अपच की वजह बन जाएगा.

थोड़ी-थोड़ी देर में खाना कितना सही

हमारी भूख हमारे शारीरिक श्रम पर निर्भर करती है. जो लोग एसी में बैठकर काम करते हैं, उन लोगों को जल्दी भूख नहीं लगती क्योंकि शारीरिक श्रम न के बराबर होता है. इसके अलावा जिनके शरीर में कफ की प्रकृति प्रबल है, उन्हें भी जल्दी भूख नहीं लगेगी. ऐसे लोगों के लिए दो बार भरपेट भोजन पर्याप्त है. लेकिन जो लोग मेहनत का काम करते हैं, या जिनके शरीर में वात की प्रवृत्ति प्रबल है, उनकी जठराग्नि तेज काम करती है और खाना जल्दी पचता है. ऐसे लोगों को जब भी भूख लगे तब खाना चाहिए.

किस तरह का भोजन सही है

आयुर्वेद के हिसाब से हमें हल्का सुपाच्य और सात्विक प्रकृति का भोजन करना चाहिए. ज्यादा तेल मसालेदार और गरिष्ठ भोजन तमाम परेशानियों की वजह बनता है. इसके अलावा खाने की प्रकृति का सीधा संबन्ध हमारी मानस स्थिति से माना गया है. इसीलिए कहा जाता है कि जैसा अन्न वैसा मन. मन को शांत रखने के लिए आयुर्वेद में सात्विक भोजन करने की सलाह दी गई है. आयुर्वेद में मीठा, खट्टा, खारा, तीखा, कड़वा और कसैला, इन छह रसों को खाने में जरूरी बताया गया है.

खाना खाने का सही तरीका

खाना हमेशा शांत जगह पर बैठकर और प्रसन्न मुद्रा में चुपचाप खाना चाहिए. खाते समय छोटे-छोटे निवाले लेकर उन्हें कम से कम 32 बार चबाना चाहिए. इस दौरान किसी से बातचीत न करें और न ही जल्दबाजी में भोजन करें.

कितना भोजन करना चाहिए

अपनी भूख से थोड़ा कम भोजन हर किसी को करना चाहिए. आयुर्वेद में आमाशय के चार हिस्से बताए गए हैं. दो हिस्से अन्न के लिए, इसमें रोटी, सब्जी, दाल और चावल खा सकते हैं. एक हिस्सा लिक्विड डाइट के लिए जिसमें पानी, छाछ, दूध और खीर वगैरह खाए जा सकते हैं और चौथा हिस्सा खाली छोड़ देना चाहिए ताकि वात, पित्त और कफ खुद को बैलेंस कर सकें. ऐसा करने से खाना अच्छी तरह पच जाता है.

भोजन के दौरान पानी पीना कितना सही

आयुर्वेद के मुताबिक खाना खाते समय घूंट-घूंट पानी पीना अच्छा माना जाता है. लेकिन एक साथ ज्यादा पानी नहीं पीना चाहिए. इसके अलावा खाने से तुरंत पहले और तुरंत बाद में भी पानी नहीं पीना चाहिए. तुरंत पहले पिया हुआ पानी शरीर में वात का प्रकोप बढ़ाता है और तुरंत बाद पानी पीने से कफ का प्रकोप बढ़ता है. खाने से कम से कम 45 मिनट पहले पिएं और खाना खाने के करीब 1 घंटे बाद पिएं.



Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget