आधे से ज्‍यादा पंचायतों में बदल सकता है आरक्षण

यूपी पंचायत चुनाव 2021

गोरखपुर

यूपी में त्रिस्‍तरीय पंचायत चुनाव के लिए आरक्षण को लेकर हाईकोर्ट के निर्देश के बाद पहले तैयार सूची में भारी उलटफेर की सम्‍भावना है। गोरखपुर की 50 से 60 फीसदी ग्राम पंचायतों में आरक्षण आवंटन बदल सकता है। सम्‍भावना है कि 20 मार्च तक अनंतिम सूची का प्रकाशन हो जाए। इसके बाद आपत्तियां मंगाकर उनका निस्‍तारण किया जाएगा। इसके पहले दो मार्च को ग्राम पंचायत प्रधान, ग्राम पंचायत सदस्य, क्षेत्र पंचायत सदस्य, जिला पंचायत सदस्य और ब्लाक प्रमुख पदों के लिए आरक्षण की अंतिम सूची जारी की गई थी। यह सूची 1995 को आधार वर्ष मानकर तैयार की गई थी। लेकिन हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने एक जनहित याचिका पर निर्णय देते हुए सरकार की अनंतिम सूची से अपनी असहमति जताई। हाईकोर्ट ने 2009 को आधार वर्ष मानकर आरक्षण आवंटन करने का निर्देश दिया। कैबिनेट ने आधार वर्ष बदलने की पुष्टि कर दी है। इसके बाद जिला स्तर पर नई व्‍यवस्‍था के अनुसार आरक्षण आवंटन की तैयारी शुरू हो गई है। जानकारों के मुताबिक गांव, जिला पंचायत वार्ड, क्षेत्र पंचायत वार्ड और ग्राम पंचायत वार्डों के आरक्षण में 60 से 70 फीसदी तक बदलाव हो सकता है। नए आरक्षण फार्मूले के मुताबिक 2015 के चुनाव में जो गांव अनुसूचित जाति (एससी) या अनुसूचित जाति महिला के लिए आरक्षित रहे होंगे, वहां इस बार उस वर्ग के लिए उनका आरक्षण 

नहीं होगा। 


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget