'हमारी कमजोरियों की भारत ने कलई खोल दी'

ian morgan

अहमदाबाद

इंग्लैंड के कप्तान इयोन मोर्गन का मानना है कि धीमी पिच पर उनकी टीम की ‘कमजोरियों’ की भारत ने कलई खोल दी। उन्होंने कहा कि यहां खेलने से ही वे टी-20 विश्व कप की तैयारी कर सकेंगे। भारत ने दूसरे टी-20 मैच में इंग्लैंड को सात विकेट से हराकर पांच मैचों की श्रृंखला में 1.1 से बराबरी कर ली। मोर्गन ने स्वीकार किया कि दूसरे मैच में उनकी टीम धीमी पिच के अनुकूल ढल नहीं सकी। उन्होंने मैच के बाद वर्चुअल प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ‘दोनों टीमों में अंतर विकेट और उसके अनुकूल ढलने का था। यह पहले मैच की पिच से अलग पिच थी। पिच धीमी थी और इस पर हमारी कमजोरियां उजागर हो गई।’ उन्होंने कहा, ‘हम धीमी विकेटों पर नहीं खेलते हैं। इन पर जितना ज्यादा खेलेंगे, उतना ही फायदा होगा। इन हालात में खेलकर और गलतियों से सीखकर ही बेहतर प्रदर्शन कर सकते हैं।’ मोर्गन ने कहा कि इस साल के आखिर में भारत में होने वाले टी-20 विश्व कप से पहले इन पिचों पर खेलने से मदद मिलेगी। उन्होंने कहा, ‘इस पिच पर हमें अपने ‘सुविधा जोन’ से बाहर निकलना होगा। मुझे लगा था कि यह हमारे अनुकूल तेज पिच होगी, लेकिन यह बिल्कुल भारतीय विकेटों जैसी धीमी है। इसके अनुकूल जल्दी ढलना होगा, क्योंकि सात महीने बाद इन्हीं पिचों पर विश्व कप खेलना है। इससे बेहतर तैयारी क्या हो सकती है।’ उन्होंने स्वीकार किया कि रविवार के मैच में इंग्लैंड की टीम किसी भी विभाग में अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सकी। उन्होंने भारत के युवा बल्लेबाज ईशान किशन की भी तारीफ की, जिसने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण करके 32 गेंद में 56 रन बनाये। उन्होंने कहा, ‘शुरूआती विकेट हमने जल्दी ले लिया, लेकिन भारत ने वापसी में देर नहीं लगाई।'



Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget