लाचार पिता ने बोरे में भरकर ढोईं बच्चों की लाशें

भागलपुर

देश के दो बड़े हिंदीभाषी राज्य बिहार और यूपी में बीते दिनों यहां के अमानवीयता और प्रशासन के लापरवाही की झकझोर देने वाली दो बड़ी तस्वीरें सामने आई है। एक बिहार के कटिहार जिले की तस्वीर है जहां एक बेटे के शव को लेकर थाना जाते लाचार पिता की तस्वीर है तो दूसरी ओर यूपी के प्रयागराज की तस्वीर सामने आती है जहां निजी अस्पताल में इलाज के रुपये जमा नहीं करने पर बच्चे के ऑपरेशन के दौरान चीरे हुए पेट पर टांका लगाए बिना ही उसे घर भेज दिया गया। जहां बाद में बच्चे की मौत हो गई। 

हालांकि यूपी मामले में घटना की मीडिया में सुर्खियां बनने के बाद राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (एनसीपीसीआर) ने मामले का संज्ञान लिया और प्रयागराज के जिला अधिकारी को मामले में केस दर्ज कर जांच कराए जाने का निर्देश दिया है। बिहार के कटिहार जिले में बीते कुछ दिनों से लापता 13 साल के बच्चे का शव बरामद हुआ तो पुलिस ने पोस्टमार्टम कराना भी जरूरी नहीं समझा और शव को मौके पर ही छोड़कर रवाना हो गए। पुलिस ने जब अपने हाल पर छोड़ दिया तो मृतक के पिता शव को बोरे में भरकर पैदल ही निकल पड़े और थाने पहुंचे। दरअसल बीते 26 फरवरी को भागलपुर जिले के गोपालपुर थानाक्षेत्र करारी तीनटंगा के रहने वाले 13 वर्षीय हरिओम कुमार नाव से गिरकर गंगा में डूबने से लापता हो गया था। काफी खोजबीन करने के बाद भी शव बरामद नहीं होने पर हरिओम के पिता लेरू यादव ने घटना के संदर्भ में गोपालपुर थाना में सूचना भी दी थी। इसके कुछ दिनों बाद कुर्सेला थाना क्षेत्र के खेरिया घाट पर एक किशोर का शव बरामद हुआ। खेरिया में दूरदराज के सगे संबंधियों ने शव देखकर इसकी सूचना हरिओम को दी।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget