सियासी हत्याओं पर दीदी की घेराबंदी

अमित शाह बोले : ममता दीदी! क्या आपको उन 130 कार्यकर्ताओं की माताओं के दर्द का एहसास है,  जिन्हें राजनीतिक हिंसा के कारण मौत के घाट उतार दिया गया

amit shah

कोलकाता

गृह मंत्री अमित शाह पश्चिम बंगाल और असम के दो दिन के दौरे पर हैं। सोमवार को उन्होंने बंगाल से अपने चुनावी अभियान की शुरुआत की। रानीबंद में उन्होंने कहा कि आज मैं थोड़ा लेट हो गया, क्योंकि मेरा हेलिकॉप्टर खराब हो गया था, लेकिन मैं यह नहीं कहूंगा कि इसमें किसी की साजिश थी।

उन्होंने कहा कि ममता दीदी आप जल्दी से स्वस्थ हों। आप पैर की चोट की वजह से बहुत आहत हुई हैं, लेकिन क्या आपको उन 130 कार्यकर्ताओं की माताओं के दर्द का एहसास हैं, जिन्हें राजनीतिक हिंसा के कारण मौत के घाट उतार दिया गया। ममता दीदी दो मई को आपकी सारी शंकाएं दूर होने जा रही हैं।

उन्होंने कहा कि दीदी के चोट की जांच अभी चल रही है, लेकिन उनका कहना है कि उनके खिलाफ साजिश की गई। चुनाव आयोग का कहना है कि यह हमला नहीं हादसा है। दीदी बंगाल की जनता सब जानती है। इससे पहले बंगाल के खड़गपुर में उनके हेलिकॉप्टर में तकनीकी खराबी आ गई। इस वजह से उन्होंने झारग्राम की रैली को वर्चुअली संबोधित किया।

ममता सरकार में राजनीतिक हिंसा बढ़ी

शाह ने कहा कि बंगाल में हम आशा करते थे कि यहां से कम्युनिस्ट शासन जाने के साथ ही राजनीतिक हिंसा समाप्त हो जाएगी। मगर TMC की सरकार ने तो कम्युनिस्टों को भी अच्छा कहलवा दिया। राजनीतिक हिंसा और बढ़ गई। 130 से ज्यादा भाजपा कार्यकर्ता मार दिए गए।

आदिवासियों से कटमनी मांग रही TMC

ममता दीदी ने आदिवासियों के अधिकार देने में भी कटमनी मांगी है। वनपत्र अधिकार देने में कटमनी देना पड़ता है। भाजपा सरकार बनने दीजिए, किसी आदिवासी भाई को सर्टिफिकेट लेने के लिए 100 रुपए नहीं देने पड़ेंगे।

भाजपा सरकार बनानी होगी

तृणमूल सरकार ने बंगाल का पतन किया है। अब समय आ गया है, सोनार बांग्ला बनाने का। अब समय आ गया है, आदिवासी बच्चों को घर पर ही नौकरियां दिलाने का। इसके लिए बंगाल में भाजपा सरकार बनानी होगी।


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget