ठाणे में सभी प्रकार के आंदोलन पर पाबंदी

 ठाणे

जिले में बढ़ रहे कोरोना के संक्रमण को ध्यान में रखते हुए ठाणे पुलिस आयुक्तालय कार्यक्षेत्र में निषेधाज्ञा लागू किया गया है। इस दौरान सभी प्रकार के आंदोलनों को करने पर पाबंदी लगा दी गई है। यह पाबंदी पुलिस कमिश्नर विवेक फणसलकर ने निषेधाज्ञा कानून के तहत लगाई है। इस आदेश के अनुसार, एक मार्च से 15 मार्च 2021 के बीच 15 दिनों की कालावधि तक कोई भी राजनीतिक दल आंदोलन नहीं कर पाएंगे। इस आदेश का भंग करने वालों के विरुद्ध महाराष्ट्र पुलिस अधिनियम 1951 की धारा 135 तहत कार्रवाई की जाएगी। पुलिस आयुक्तालय द्वारा जारी आदेश में कहा गया है कि 15 दिनों की इस कालावधि के दौरान विभिन्न राजनीतिक दल, सामाजिक संगठन द्वारा जनता के लिए विभिन्न प्रकार की आयोजित होने वाले मोर्चा, आंदोलन, प्रदर्शन और घेराव आदि के कार्यक्रमों का आयोजन किए जाने की संभावना थी, जिस पर पाबंदी लगाई है। कमिश्नर विवेक फणसलकर ने अपने आदेश में कहा है कि 11 मार्च को महाशिवरात्री और छत्रपति संभाजी राजे बलिदान दिन और 12 मार्च को शब-ए-मेराज जैसे उत्सव भी आ रहे हैं। ऐसे में बढ़ रहे कोरोना के संक्रमण को ध्यान में रखते हुए ठाणे पुलिस आयुक्तालय की सीमा में सार्वजनिक शांति और सुव्यवस्था अबाधित रखने के लिए महाराष्ट्र पुलिस अधिनियम 1951 की धारा के अनुसार तलवार, लाठी सहित अन्य प्रकार के शस्त्र को साथ लेकर चलने के लिए पाबंदी लगाई गई है। 


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget